Srilanka: राष्ट्रपति आवास पर हजारों प्रदर्शनकारियों का प्रदर्शन, 45 लोग गिरफ्तार

0

कोलंबो, 01 अप्रैल। एक तरफ पाकिस्तान में इमरान सरकार का तख्ता पलट होने को है तो वहीं दूसरी और श्रीलंका में भी हालात खराब हो रहे हैं। भारत के पड़ोसी देश श्रीलंका इस समय आर्थिक संकट से जूझ रहा है और यहां काफी समय से बिजली भी उपलब्ध नहीं है। इन समस्याओं के चलते श्रीलंका की जनता का (Protest at Presidents Residence) गुस्सा फूट पड़ा है।

राष्ट्रपति के खिलाफ नारेबाज़ी

Sponsored Ad

बृहस्पतिवार को श्रीलंका की राजधानी में राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के निवास स्थान पर हजारों प्रदर्शनकारी एकत्र हो गऐ। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने अपने हाथों में तख्तियां ली हुईं थीं जिसमें लिखा था ‘गोटा घर वापस जाओ’। इसके अलावा प्रदर्शनकारियों ने सरकार के विरोध में कई नारे भी लगाए (Protest at Presidents Residence) और सरकार से इस्तीफे की मांग की। प्रदर्शनकारियों का मानना है कि राष्ट्रपति द्वारा देश की अर्थव्यवस्था को सही से संभाला नहीं जा रहा है।

45 प्रदर्शनकारी गिरफ्तार

प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और पानी की तेज धार का छिड़काव किया। कोलंबो शहर के अधिकतर क्षेत्रों में कुछ समय के लिए कर्फ्यू लागा दिया गया और पुलिस ने सैकड़ों प्रदर्शनकारियों में से 45 लोगों को गिरफ्तार भी किया।

श्रीलंका में विदेशी विनिमय की कमी है जिसके कारण ईंधन, रसोई गैस और अन्य आवश्यक वस्तुओं की भारी कमी हो गई है और वहां की जनता को दिन में 13 घंटे की बिजली कटौती का भी सामना करना पड़ रहा है। लोग राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे को इस स्थिति का जिम्मेदार मान रहे हैं।

Sponsored Ad

Sponsored Ad

प्रदर्शन में 5 पुलिसकर्मी घायल

पुलिस के अनुसार, प्रदर्शन के दौरान 5 पुलिसकर्मियों समेत काफी संख्या में लोग घायल हुए हैं और वाहनों में आग लगा दी गई। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “अब तक 45 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पांच पुलिसकर्मी घायल हो गए जबकि एक बस, एक जीप और दो मोटरसाइकिल को आग लगा दी गई। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के, पानी के एक ट्रक को भी क्षतिग्रस्त कर दिया।”

कोलंबो के ज्यादातर क्षेत्रों और केलानिया के उपनगरीय पुलिस डिवीजन में गुरूवार आधी रात से ही कर्फ्यू (Protest at Presidents Residence) लगा दिया गया था जिसे शुक्रवार सुबह हटा दिया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.