सोनिया गांधी का सरकार पर निशाना, राजनीति से ऊपर होनी चाहिए कोरोना से लड़ाई

0 71

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कोरोना की स्थिति को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है. शनिवार को सोनिया ने ट्वीटर पर विडियो शेयर करते हुए मोदी सरकार को घेरते हुए कहा कि बहुत दुख होता है उन खबरों को पढ़कर कि देश के कई राज्यों में इलाज के लिए संसाधनों और अस्पतालों में बेड आदि की कमी है.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि रिपोर्ट्स ये भी कहती हैं कि देश के अलग – अलग हिस्सों में कोविड वैक्सीन की कमी है. यहां तक की लोगों की जान बचाने वाली रेमडेसिवीर की भी कमी है.

पीड़ित परिवारों के प्रति दुख प्रकट किया  

सोनिया ने कहा कि मेरा दुख और सांत्वना उन परिवारों के साथ है जिन्होने महामारी के चलते अपनों को खोया है. सोनिया ने कहा कि, मैं स्वास्थ्य कर्मियों के प्रति आभार व्यक्त करती हूं और उन्हें सैल्युट करती हूं जिन्होंने इस महामारी के दौरान अपनी जान खतरे में डालकर अपने कर्तव्यों का पालन पूरी निष्ठा से किया है.

ट्वीटर पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का संम्बोधन यहा देंखें

सोनिया ने कहा कि, हमने कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की तो उनमें से कुछ का कहना है कि उनके पास बस कुछ दिन की वैक्सीन बची है और ऑक्सीजन और वेंटिलेटर की कमी है लेकिन मोदी सरकार ने चुप्पी साधी हुई है परन्तु बीजेपी शासित राज्यों को सुविधाएं दी जा रही हैं.

वैक्सीन निर्यात पर सवाल

भारत ने अब तक 6.5 करोड़ कोविड-19 वैक्सीन का निर्यात दूसरे देशों में किया है जबकि हमारे देश में हालात खराब है. हमें खुद के लोगों को बचाना है. इसके अलावा सरकार को वैक्सीन लगाने की उम्र 25 वर्ष या उससे ऊपर करनी चाहिए खासकर उनके लिए जो अस्थमा या डायबटिज से पीड़ित हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों का कहना है कि कोरोना से लड़ने के लिए आवश्यक वस्तुओं को GST से मुक्त करना होगा जिसपर 12 से 22 % तक GST लगता है.

सोनिया ने कहा कि “कोरोना की रफ्तार को कम करने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें देश में नाइट कर्फ्यू, और लॉकडाउन की ओर बढ़ रही हैं ऐसे में इसका असर दिहाड़ी मजदूरों और गरीब परिवारों पर पड़ेगा. हम सरकार से हर महीने इनके खातों में 6000 रुपये ट्रांसफर करने की अपील करते हैं.”

Leave A Reply

Your email address will not be published.