Kathal Ki Sabji Kaise Banate Hain | कटहल के उपयोग, फायदे और नुकसान

0

आज के इस आर्टिकल में हम बताऐंगे Kathal Ki Sabji Kaise Banate Hain. साथ ही बताऐंगे कटहल के फायदे (Benefits of Jackfruit) और उससे जुड़ी अन्य जानकारियां। कटहल (Kathal) में कुछ ऐसी विशेषताएं हैं जो अन्य किसी सब्जी में नहीं पाई जाती है। कटहल में कई तरह के तत्व पाए जाते हैं जैसे विटामिन सी, विटामिन ए, पोटेशियम, कैल्शियम, आयरन और थायमिन आदि जो प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं।

Sponsored Ad

कटहल खाने के फायदे ऐसे भी हैं कि यह आपको कई तरह की बीमारियों से दूर रखता है। कटहल में प्रोटीन की मात्रा अन्य सब्जियों की तुलना में बहुत ज्यादा होती है। कटहल के बीज में भी प्रोटीन अधिक पाया जाता है। जो लोग शाकाहरी हैं और सही मात्रा में प्रोटीन लेना चाहते हैं तो उन्हें अपनी डाइट में कटहल ज़रूर शामिल कर लेना चाहिए।

हार्ट से जुड़ी समस्याओं से बचने के लिए भी कटहल का प्रयोग किया जाता है। कटहल के फायदें और इससे होने वाले नुकसानों को जानने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक ज़रूर पढ़ें।

Kathal Ki Sabji Kaise Banate Hain (कटहल की सब्जी)

कटहल का सेवन आप कई तरीकों से कर सकते हैं। कटहल पकने के बाद पीले रंग का हो जाता है जिसे आप बिना पकाए भी खा सकते हैं लेकिन हमारी राय में इसे पका कर ही खाऐं। जब कटहल कच्चा होता है तब उसकी सब्जी पका कर भी खाई जा सकती है लेकिन आपको कटहल बनाते समय कुछ बातों का ध्यान रखना ज़रूरी है।

Sponsored Ad

Sponsored Ad

कटहल काटने से पहले अपने दोनों हाथों पर सरसों का तेल लगा लें। ऐसा इसलिए क्योंकि कटहल में से सफेद दूध के जैसा दिखने वाला पदार्थ निकलता है जो हाथों में चिपक सकता है और हाथों में काले धब्बे बना सकता है। इस दूध के धब्बे हाथों से आसानी से नहीं जाते क्योंकि कच्चे फल का दूध हाथों पर लगने के कारण ये बहुत मुश्किल से हटता है।

आप चाहें तो ग्लब्स पहनकर भी कटहल को काट सकते हैं। कटहल को काटने के लिए किसी धारदार चाकू का ही प्रयोग करें। आप सब्जी के अलावा कटहल का अचार भी बना सकते हैं। जैसे आप घर में गाजर, आम, मिर्च आदि का आचार बनाते हैं। ठीक वैसे ही कटहल का आचार भी बनता है। जिस प्रकार आम, गाजर व मूली के अचार बनाए जाते हैं। आपको बता दें कि दक्षिण भारत के लोगों को जैकफ्रूट चिप्स (Jackfruit Chips) काफी ज्यादा पसंद होते हैं।

कटहल को सही तरीके से काटने के बाद आईये अब बात करते हैं Kathal Ki Sabji Kaise Banate Hain दोस्तों जो लोग खाने-पीने के शौकीन होते हैं उनके लिए कटहल की एक शानदार रेसिपी है। साथ ही अगर आप शाकाहारी हो और नोन-वेज का मज़ा लेना चाहते हैं तो कटहल से बेहतर विकल्प दूसरा नहीं हो सकता है।

कटहल की सब्जी (Kathal Ki Sabji) इतनी टेस्टी बनेगी कि आप अपनी उंगलियां चाटते रह जाएंगें। चलिए जानते हैं कि कटहल की सब्जी कैसे बनाई जाती है?

कटहल की सब्जी बनाने की रेसिपी:

Kathal Ki Sabji Kaise Banate Hain इसके लिए सबसे पहले हमें सब्जी बनाने में प्रयोग होने वाले अवयवों (Ingredients) के बारे में जान लेते हैं जो हमें काम आने वाले हैं।

  • आधा किलो कटहल
  • 3 बड़े चम्मच तेल (रिफाईन्ड)
  • एक कटा हुआ प्याज
  • एक इंच छोटा कटा हुआ अदरक
  • 6 कलियां, बारीक कटी लहसून
  • एक कटोरी टमाटर प्यूरी
  • 2 बड़े चम्मच धनिया  
  • नमक स्वादानुसार
  • एक छोटा चम्मच लाल मिर्च पाउडर
  • आधा चम्मच हल्दी
  • एक छोटा चम्मच गर्म मसाला
  • 2 लंबी कटी हुई हरी मिर्च
  • 4 धनिया की पत्तियां

कटहल की सब्जी बनाने की विधि:

  • सबसे पहले आप कटहल को सावधानीपूर्वक छील लें और जैसा हमने पहले भी बताया कि अपने दोनों हाथों में सरसों का या रिफाईन्ड तेल लगाकर कटहल को त्रिकोण के आकार में काट लें। सबसे ज़रूरी बात यही है कि अगर आप अपने हाथों में तेल नहीं लगाएंगे तो कटहल काटते समय आपको हाथों में खुजली होने लगेगी।
  • कटहल से निकलने वाला सफेद दूध जैसा पदार्थ के कारण आपके हाथों पर सफेद धब्बे भी पढ़ सकते हैं। कटहल काटने के बाद इसकी डंठल को बाहर निकाल दें। अब एक कढ़ाई लें और उसमें तेल डाल लें। उसे तेज आंच पर गरम कर लें।
  • गरम तेल में कटा हुआ कटहल डालकर भूरा होने तक फ्राई कर लें। उसके बाद छलनी से छानकर बाहर निकाल लें और दूसरे बर्तन में रखकर ढ़क लें।
  • अब गर्म तेल में जीरा, प्याज, लहसुन, अदरक डालकर भून लें। जब प्याज हल्की लाल होने लग जाए तब अब आप उसमें टमाटर की प्यूरी डाल दें। अब जबतक मसाला तेल ना छोड़ने लगे उसे अच्छे से भुनते रहें।
  • जब ये प्याज और टमाटर अच्छे से पक जाए तब उसमें सारे मसाले डाल लें। फिर उसमें कटा हुआ कटहल डाल लें। सब कुछ डालने के बाद अब इसमें थोड़ा पानी भी मिला लें और इसे धीमी आंच पर पका लें। लगभग 20 या 30 मिनट के बाद जब कटहल की सब्जी बनकर तैयार हो जाए तो इसमें धनिया डालकर परोस लें।

Sponsored Ad

कटहल की सब्जी के फायदे (Benefits of Jackfruit)

kathal ki sabji kaise banate hain
Source : Pixabay

कटहल के फायदे जानने से पहले यह जानना ज़रूरी है कि हम ये जानें कि कटहल क्या है?  दोस्तों, यह एक ट्रॉपिकल या उष्णकटिबंधीय फल है और यह मुख्य रूप से दक्षिण-पश्चिम भारत में पाया जाता है। वैसे तो अंग्रेजी में इसे जैकफ्रूट (Jackfruit) के नाम से जाना जाता है लेकिन इस फल का साइंटिफिक नाम आर्टोकार्पस हेटेरो फिल्लस है।

कटहल दो प्रकार का होता है छोटा और बड़ा। यह फल बाहर की तरफ से नुकीला और खुरदुरा होता है। अंदर से सफेद या पीले रंग का होता है। कटहल की मसालेदार सब्जी खाने में बड़ी स्वादिष्ट होती है। कटहल (Kathal) दुनिया के सबसे भारी फलों में गिना जाता है।

यह फल पकने के बाद बहुत ही मीठा और स्वादिष्ठ होता है। पकने पर यह फल अंदर से सफेद या पीला हो जाता है, जिसे लोग बहुत शौक से खाते हैं। सबसे ज़रूरी बात कि केवल कटहल ही नहीं उसके बीज भी सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं।

खासतौर पर भारत में इस कटहल से सब्जी, आचार और अन्य कई तरीकों से भोजन बनाए जाते हैं। आपको ये जानकर हैरानी होगी कि कटहल वजन घटाने (Weight Loss) से लेकर कैंसर जैसी घातक बीमारियों से बचाव करने में भी मदद करता है।

कटहल की सब्जी खाने के फायदे जानकर आप हैरान हो जाएंगें। कई तत्वों के होने की वजह से कटहल हमें कई खतरनाक बीमारियों से बचाए रखने में मदद करता है। क्या आप भी कटहल के फायदे और कटहल के नुकसान जानना चाहते हैं? तो नीचे दिए गए बिंदुओं में हम आपको कटहल के फायदे (Benefits of Jackfruit) बताने जा रहे हैं।

  • कटहल में पोटेशियम पाया जाता है जो हार्ट से जुड़ी बीमारियों को दूर रखता है।
  • इसमें कई तरह के खनिज पाए जाते हैं जिनसे हार्मोन्स नियंत्रित रहते हैं।
  • कटहल में मैग्नीशियम होता है जिससे शरीर के कई रोग समाप्त हो जाते हैं।
  • कटहल के सेवन से कैंसर जैसी गंभीर बिमारी की समस्या से भी मुक्ति पाई जा सकती है।
  • कटहल पर कई तरह के शोध किए गए हैं जिनसे यह जानकारी मिली है कि इसमें आइसोफ्लेवोंस और सैपोनिन जैसे फाइटोन्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं। इनमें एंटी कैंसर गुण होते हैं जो कैंसर के रोकथाम में सहायक होते हैं।
  • कटहल इम्यून सिस्टम को मजबूत बनने में भी मदद करता है। एक रिसर्च से पता चला है कि कटहल खाने से शरीर में एंटीऑक्सीडेंट क्षमता और लैक्टिक एसिड बढ़ता है जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार हो सकते हैं।
  • कटहल आपके हृदय को भी स्वस्थ रखने में मदद करता है। इसके अलावा हार्ट स्ट्रोक जैसी घातक बीमारी से भी बचाव करता है।
  • शरीर को मजबूत हमारी हड्डियां बनाती हैं, इसलिए हड्डियों का मजबूत होना भी ज़रूरी है। कटहल में मैग्नीशियम और कैल्शियम पाया जाता है जिसकी वजह से ये आपकी हड्डियों को भी मजबूत बनाता है।
  •  महिलाओं में अक्सर एनीमिया की समस्या पाई जाती है। कटहल में आयरन की मात्रा अधिक होती है जिस कारण ये एनीमिया को रोकने और उससे लड़ने की क्षमता भी प्रदान करता है।

कटहल के नुकसान (Side Effects of Jackfruit)

अभी तक आपने कटहल के फायदे के बारे में जाना है। अब हम बात करेंगें कटहल के नुकसान और उससे होने वाले साइट इफैक्ट (Side Effects of Jackfruit) की। नीचे हम आपको कटहल के नुकसान और उससे जुड़ी अन्य जानकारी देंगें।

कटहल की सब्जी काफी लोगों को पसंद होती है। लोग इसे बड़े चाव से अलग-अलग तरीकों से बनाते हैं। ऐसा माना जाता है कि जो मांस मछली का सेवन नहीं करते हैं उन्हें कटहल की सब्जी काफी पसंद आती है और यदि इसे सही तरीके से बनाया जाए तो बहुत स्वादिष्ट बनती है।

बहुत सारे फायदे होने के बाद भी कटहल की सब्जी (Kathal Ki Sabji) के नुकसान भी हैं। जैसे कटहल के बीज आपको कई तरह से नुकसान पहुंचा सकते हैं:

खून को पतला करता है कटहल

कटहल के बीज खाने में तो टेस्टी लगते हैं लेकिन इससे शरीर में बन रहा खून पतला होने लगता है। जिन लोगों का गाढ़ा खून होता है उनके लिए कटहल के बीज फायदेमंद हो सकते हैं लेकिन जिनका खून पहले से ही पतला है उन्हें कटहल के बीज का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे आपकी सेहत को नुकसान हो सकता है।

कटहल से एलर्जिक रिएक्शन का खतरा

Sponsored Ad

शायद आपने ऐसा सुना भी होगा कि कुछ लोगों को कटहल से एलर्जी होती है। जी हां, यह बात बिल्कुल सच है। हर किसी को कटहल की सब्जी सूट नहीं करती। कुछ लोगों को कटहल की सब्जी से एलर्जिक रिएक्शन हो जाता है। जैसे छींके आना, खुजली होना या अन्य स्किन प्रोब्लम्स होना। जिन लोगों की स्कीन सेंसटीव होती है उन्हें कटहल के बीज का सेवन नहीं करना चाहिए।

डायबिटीज के मरीज़ों को हो सकती है परेशानी

जिन लोगों को शुगर की समस्या है उन्हें कटहल का सेवन कम करना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर डायबिटीज के मरीज़ शुगर लेवल कम करने की दवा ले रहें तो कटहल से उन्हें नुकसान पहुंच सकता है।

ब्लड प्रैशर वाले कटहल से करें परहेज़

लो ब्लड प्रैशर वाले मरीज़ों को भी कटहल का सेवन नहीं करना चाहिए। कटहल के बीज खाने से ब्लड प्रैशर कम हो सकता है। दूसरी ओर हाई ब्लड प्रैशर की समस्या से ग्रस्त लोगों को भी कटहल के सेवन से परहेज़ करना चाहिए।

जिन लोगों को ब्लड प्रैशर की समस्या होती है वे अक्सर उसे संतुलित करने के लिए दवाइयां खाते हैं। ऐसे में कटहल खाने से रिएक्शन होने का डर रहता है, इसलिए ब्लड प्रैशर की समस्या होने पर कटहल के सेवन से दूर रहें।

अपच से ग्रसित लोग कटहल का कम सेवन करें

जिन लोगों को अपच की समस्या होती है उन्हें भी कटहल का सेवन कम करना चाहिए। कटहल में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जिनका अगर अधिक सेवन किया जाए तो पेट दर्द, उल्टी आदि की समस्या हो सकती है।

गर्भवती महिलाऐं कटहल से करें परहेज़

गर्भवती महिलाओं को कटहल के बीज का सेवन नहीं करना चाहिए। कहटल में इन्सॉल्यूबल फाइबर मौजूद होता है जो कि मां और बच्चे दोनों के सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है।    इसके अलावा जो महिलाएं ब्रेस्टफीडिंग करवाती हैं उन्हें भी कटहल के सेवन से बचना चाहिए। कटहल खाने से गर्भपात होने की संभावनाएं भी बढ़ जाती है।

पेट से सम्बधित समस्याऐं हो सकती हैं

अगर आप जरूरत से ज्यादा कटहल खाएंगें तो इससे पेट से संबंधित परेशानियां होने लगती है। कटहल में फाइबर पाया जाता है जिसे पाचन शक्ति पर प्रभाव पड़ता है। इसके अलावा कब्ज, दस्त, एसिडिटी आदि समस्याएं भी होने लगती हैं।

कटहल के पत्तों के फायदे (Benefits of Jackfruit Leaves)

कटहल की सब्जी (Kathal Ki Sabji) के फायदे और नुकसान के बताने के ​बाद अब बात करते हैं कटहल के पत्तों की। कटहल के पत्ते सेहत के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। यह शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाता है। इसके अलावा कटहल के पत्तों का सेवन करने से पेट से जुड़ी समस्याएं भी दूर होती है।

कटहल के पत्ते कब्ज़ मिटाने में भी सहायक होते हैं। एक रिसर्च से पता चला है कि कटहल के पत्तों की राख अल्सर के इलाज के लिए काफी उपयोगी होती है। कटहल का दूध भी काफी लाभदायी होता है।

Sponsored Ad

अगर आपको शरीर के किसी हिस्से में चोट लग जाए तो आप उस जगह पर कटहल का दूध लगा सकते हैं। जोड़ों के दर्द में भी कटहल के दूध का प्रयोग किया जा सकता है। दर्द वाली जगह पर कटहल का दूध लगा सकेते हैं जिससे आपको जोड़ों के दर्द से राहत मिलेगी। (नोट: उपरोक्त बताऐं नुस्खों को इस्तेमाल करने से पहले कृपया किसी कुशल आयुर्वेदिक चिकित्सक से सलाह अवश्य लें)

कटहल खाने के बाद क्या नहीं खाना चाहिए?

अगर आप कटहल की सब्जी के शौकीन हैं तो आपको इन बातों का खास ध्यान रखना पड़ेगा। कटहल खाने के बाद दूध का सेवन ना करें क्योंकि इससे अपच की समस्या हो सकती है।

इसके अलावा अगर आपने कटहल खाने से एक घंटा पहले दूध पिया है, तो भी कटहल ना खाएं क्योंकि इससे आपके शरीर में रिएक्शन हो सकता है। जैसे दाद, खाज, खुजली, एग्जिमा आदि की समस्या हो सकती है। इसके अलावा कटहल का अत्यधिक सेवन भी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। जैसे:

कटहल में फाइबर की मात्रा काफी अधिक होती है। वैसे तो फाइबर हमारे शरीर के लिए अच्छा होता है और इससे हमारी पाचन शक्ति बढ़ती है। इससे हमारे आंतों में जमी गंदगी भी साफ होती है लेकिन फाइबर का ज्यादा सेवन करना भी सेहत के लिए ठीक नहीं होता है। इससे पेट खराब हो सकता है और पेट में मरोड़े भी उठ सकते हैं।

कटहल खाने में तो स्वादिष्ट होता है लेकिन इसे खाने के बाद जुकाम, सर्दी, खांसी जैसी परेशानियां भी हो सकती हैं।

कटहल की तासीर क्या है?

कटहल में ऐसी बहुत सी खूबियां हैं जो अन्य किसी सब्जी में नहीं होती हैं। कटहल में कैलोरी की मात्रा नहीं पाई जाती है। ये हार्ट से जुड़ी समस्याओं से भी मुक्ति दिलाने में मदद करता है। कटहल में पर्याप्त मात्रा में आयरन पाया जाता है। इसके अलावा कटहल में पोटेशियम और मैग्निशियम भी मौजूद होता है।

benefits of jackfruit
Source : Pixabay

काफी लोग अक्सर इस बात से अनजान होते हैं कि कटहल की तासीर क्या है? तो आपको बता दें कि कटहल खाने में गर्म होता है। इसलिए इसे ज्यादा खाना भी सेहत के लिए नुकसानदायी हो सकता है। जिन महिलाओं को मासिक धर्म की समस्या होती है उन्हें कटहल का सेवन करना चाहिए लेकिन प्रेंग्नेंसी के समय कटहल से परहेज़ रखना ज़रूरी है।

इसके अलावा जिन लोगों का खून ठंडा होता है या जिन्हें ज्यादा ठंड लगती है उनके लिए कटहल का सेवन काफी उपयोगी साबित होता है।

सबसे अधिक पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

प्रश्न: क्या कटहल खाने से वजन कम होता है?
उत्तर: इसका जवाब जानकर आप हैरान रह जाएंगें। जीं हां, कटहल का सेवन आपका वजन कम कर सकता है। कटहल में फैट नहीं होता और साथ ही इसमें पोटेशियम की भरपूर मात्रा भी पाई जाती है जिससे आपका वजन बढ़ता नहीं है। अगर आप अपनी हैल्थ को लेकर काफी एक्टिव हैं तो कटहल को अपनी डाइट में ज़रूर शामिल कर लें।
पश्न: क्या कटहल खून की कमी पूरी करता है?
उत्तर: जीं हां, अगर आपको खून की कमी है तो कटहल का सेवन आपके लिए लाभकारी हो सकता है। कटहल में आयरन मौजूद होता है जिससे यह शरीर में रक्त के उत्पादन को बढ़ाने में मदद करता है। यह अनेमिया जैसी बीमारियों से भी लड़ने में मदद करता है।
पश्न: कटहल के स्किन बेनीफिट्स क्या हैं? (Skin Benefits of Jackfruit)
उत्तर: कटहल की सब्जी (Kathal Ki Sabji) कई तरह के स्किन प्रोब्लम्स को दूर करने में मदद करता है क्योंकि इसमें पानी की मात्रा ज्यादा होती है जिसके कारण यह आपकी स्किन को हाइड्रेट करने में भी मदद करता है। झुर्रियां, रूखापन आदि कम करने में भी कटहल काम आता है।
पश्न: कटहल का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए? (How to Use Jackfruit)
उत्तर: आप कटहल का प्रयोग कई तरीकों से कर सकते हैं। हमारे आर्टिकल Kathal Ki Sabji Kaise Banate Hain में आपको कटहल की सब्जी बनाने की रेसिपी भी साझा की गई है। अगर आप किसी बीमारी के लिए कटहल का प्रयोग कर रहे हैं तो एक बार किसी आर्युवेदिक चिकित्सक से सलाह ज़रूर लें।
पश्न: कटहल कहां पाया और उगाया जाता है?
उत्तर: कटहल के पेड़ घरों या बगीचों में भी लगाए जाते हैं। कटहल का प्रयोग अचार एवं पत्तों का उपयोग साग बनाने के लिए किया जाता है। बौद्ध लोग इसे पवित्र वृक्ष मानते हैं और अपने मठों में सम्मानपूर्वक इस वृक्ष को लगाते हैं।

हमने इस आर्टिकल Kathal Ki Sabji Kaise Banate Hain में आपको कटहल के फायदे (Benefits of Jackfruit) और उससे जुड़ी अनेक जानकारियां देने की कोशिश की है। इस कोरोना काल के दौर में आपकी इम्युनिटी का मजबूत होना बहुत ज़रूरी है। इसके लिए आपको घर में बना खाना ही खाना चाहिए।

ये भी पढ़ें: Khajur Khane Ke Fayde | खजूर खाने के फायदे और नुकसान हिन्दी में

Sponsored Ad

साथ ही अपने घर के सदस्यों को भी इसके लिए प्रेरित करना चाहिए। कटहल की सब्जी में आयरन, मैग्निशियम और प्रोटीन मौजूद होता है जिससे यह आपके शरीर को मजबूत बनाने में मदद करता है। अगर आप अपनी इम्युनुटी बढ़ाना चाहते हैं तो कटहल को अपनी डाइट में ज़रूर शामिल कर लें।

देश मे कैंसर के मामले भी बहुत ज़्यादा बढ़ते जा रहे हैं। डॉक्टरों का भी यही मानना है कि इसका कारण हैं आहार का संतुलित ना होना। कटहल में एंटीऑक्सीडेंट्स विटामिन के फाइबर और मैंगनीज होते हैं जो स्किन कैंसर और मुँह के कैंसर को रोकने में मदद करते हैं।

अगर आपको इस आर्टिकल में बताए गए फायदे और नुकसान की तरह ही किसी अन्य सब्जी या फल के बारे में जानकारी चाहिए तो हमें कमेंट करके ज़रूर बताएं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.