Khajur Khane ke Fayde | खजूर खाने के फायदे और नुकसान हिन्दी में

0 121

दोस्तों आज हम लाऐं हैं एक ओर जानकारी से भरपूर आर्टिकल Khajur Khane ke Fayde. जी हां खजूर खाने के फायदे क्या हैं और उसके नुकसान क्या हैं, हम इन सभी पर विस्तार से बात करेंगें, साथ ही बताऐंगे खजूर के प्रकार, गर्मी में खजूर खाने के फायदे, खाली पेट खजूर खाने का सही तरीका और भी बहुत कुछ तो आईये शुरू करते हैं।

Content : Khajur Khane ke Fayde

Khajur Khane ke Fayde

खुद को स्वस्थ्य रखने के लिए हमें शारीरिक व्यायाम के साथ-साथ कई प्रकार के खाद्य पदार्थों का सेवन करने की भी सलाह दी जाती है। ऐसे में हमारे शरीर के लिए ड्राई फ्रूट्स को भी काफी फायदेमंद बताया जाता है इनमें से एक ड्राई फ्रूट है खजूर जो कई प्रकार के स्वास्थ्य संबंधी जोखिमों को कम करने का भी काम करता है। अगर नियमित रूप से खजूर का सेवन किया जाए तो यह हमारी सेहत को कई बेहतरीन फायदे पहुंचा सकता है।

तो आइये जानते हैं खजूर का सेवन करने से होने वाले बेहतरीन फायदों के बारे में जिसका सेवन करके जानलेवा बीमारियों की चपेट में आने से आप बचे सकते हैं और खुद को स्वस्थ रख सकते हैं।

खजूर खाने से डायबिटीज का खतरा कम होता है

शरीर में ब्लड शुगर लेवल की मात्रा बढ़ने से डायबिटीज़ का खतरा बढ़ जाता है। खजूर, ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए बेहतरीन माना जाता है। तो अगर आप खजूर का सेवन हफ्ते में 2 से 3 बार करते हैं तो इससे डायबिटीज़ होने का खतरा कम हो जाता है।

खजूर में मिलते हैं एंटीऑक्सीडेंट तत्व

एंटीऑक्सीडेंट क्रिया वो होते है जो मुख्य रूप से हमारी त्वचा को निखारने का काम करती है। इसके अलावा ये रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी मजबूत करने का काम करती है। एक रिसर्च के अनुसार, खजूर में एंटी ऑक्सीडेंट की भरपूर मात्रा देखी गई है इसलिए एंटीऑक्सीडेंट फूड सोर्स के रूप में खजूर एक अच्छा विकल्प है।

फाइबर से भरपूर है खजूर

वैसे तो फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों के लिए छुहारा एक अच्छा विकल्प माना जाता है लेकिन एक रिसर्च के मुताबिक खजूर में भी फाइबर की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है। फाइबर मुख्य रूप से पाचन क्रिया को ठीक करता है और पेट से जुड़ी समस्याओं को भी कम करने के लिए बेहतरीन माना जाता है, तो आप अपने शरीर में फाइबर की पूर्ति के लिए खजूर का सेवन कर सकते हैं।

हृदय रोगों के खतरे को करता है कम

हर साल भारत में लाखों लोग दिल से जुड़ी बिमारियों के कारण अपनी जान गंवा देते हैं जैसे कार्डियक अरेस्ट, हार्ट अटैक आदि। वहीं खजूर का सेवन करने से हृदय रोगों का खतरा कम होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें कैरोटेनॉइड और फिनोलिक एसिड के गुण पाये जाते हैं जो दिल से जुड़ी बीमारियों के खतरे को कम करते हैं और आपके दिल को किसी भी बीमारी के खतरे से बचाए रखते हैं।

खजूर दिमाग को करता है तेज

Khajur Khane Ke Fayde में एक और महत्वपूर्ण चीज भी जुड़ी है और वो है आपका दिमाग। जी हां खजूर दिमाग से जुड़ी कार्यप्रणाली को बेहतरीन बनाने के साथ – साथ उसकी सक्रियता को भी मेंटेन करने का काम करते है। एक क्लीनिकल ट्रायल के दौरान पाया गया है कि खजूर का सेवन करने से दिमाग में होने वाली सामान्य सूजन को कम कर सकते हैं।

इसके अलावा खजूर दिमाग की नसों को भी बेहतरीन तरीके से कार्य करने के साथ – साथ मेमोरी पॉवर को बूस्ट करने के लिए भी बढ़िया माना जाता है।

रतौंधी का इलाज

रोजाना खजूर खाना न सिर्फ हमारा शरी र के लिए स्वस्थ्यवर्धक रहता है, बल्कि यह आंख से जुड़ी एक ​बीमारी, रतौंधी के इलाज में भी कारगर है। रतौंधी से निजात पाने के लिए खजूर का पेस्‍ट बनाएं और उसे आंखों के चारों ओर लगाएं इससे फायदा मिलता है। खजूर खाकर भी रतौंधी से फायदा ​मिलता है।

गर्भावस्था में खजूर के फायदे

गर्भावस्था के दौरान हमें सोच समझ कर ही खाद्य पदार्थों का सेवन करना होता है। एक रिसर्च के अनुसार, गर्भावस्था के दौरान खजूर का सेवन लाभदायक होता है। इस दौरान खजूर का सेवन करने से महिला को लेबर पेन बहुत कम होता है। एक क्लीनिकल ट्रायल में यह पाया गया है कि खजूर का सेवन करने वाली महिलाओं में गर्भावस्था में ज्यादा ताकत की अनुभूति होती है।

Khajur हाई बल्ड प्रेशर को करता है कंट्रोल

जिन्हे हाई ब्लडप्रेशर की शिकायत होती है उन्हे भी खजूर खाने के फायदे मिल सकते हैं। खजूर में मैग्नीशियम और पोटेशियम पाया जाता है जो हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को कंट्रोल करने के लिए काफी लाभदायक माना गया है।

जिनको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या रहती है वो अगर एक गिलास दूध में दो खजूर मिलाकर इसका ड्रिंक तैयार करके पिएं तो ब्लड प्रेशर कंट्रोल होने में मदद मिलती है। वहीं जो लोग नियमित रूप से खजूर का सेवन करते हैं उनके लिए हाई ब्लड प्रेशर का खतरा कम हो जाता है।

सेक्स पावर बढ़ाता है खजूर

कुछ शोधों में पाया गया है कि खजूर सेक्स  पावर भी बढ़ाता है। खजूर में Estradiol और Flavonoid मिलते हैं जो स्पर्म काउंट बढ़ाने में मददगार होते हैं।

खजूर खाने से हड्डियों को फायदे

हमारी हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए भी खजूर बहुत फायदेमंद है। खजूर में फॉस्फोरस, पोटेशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम मिलता है जो हड्डियों के बेहतरीन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है।

खजूर से दांतों में नहीं लगेंगे कीड़े

खजूर में Fluorine मिलता है। यह एक ऐसा केमिकल है जो दांतों से प्‍लाक हटाता है और दातों में कैविटी नहीं होने देता। इसके अलावा टूथ इनेमल यानि दंतवल्‍क को भी मजबूत करता है।

Khajoor त्वचा और बालों के लिए फायदेमंद

खजूर विटामिन C से भरपूर होता है जो त्वचा के लचीलेपन को बरकरार रखता है और उसे कोमल बनाता है। इसके अलावा खजूर में मौजूद विटामिन B-5 स्‍ट्रेच मार्क्‍स को भी हटाने में कारगर है। इतना ही नहीं इसमें मौजूद विटामिन B-5 बालों को झड़ने और दोमुंहे होने से भी बचाता है।

खजूर खाने के नुकसान (Disadvantages of Eating Dates)

ऊपर हमने आपको Khajur Khane Ke Fayde बताए अब हम आपको बताने जा रहे हैं Khajur Khane Ke Nuksan जिससे आपको पता चलेगा कि खजूर खाने का सही तरीका जो आपको नुकसान होने से बचाएंगे।

मांस पेशियों में बढ़ा सकता है दर्द

किसी भी चीज का अत्यधिक मात्रा में सेवन हमारे शरीर के लिए हानिकारक होता है ऐसे में खजूर का भी अधिक मात्रा में सेवन करने से आपकी मांस पेशियों में दर्द की समस्या हो सकती है. खजूर में अधिक पोटैशियम पाया जाता है और इसका अधिक सेवन बॉडी में पोटैशियम का स्तर बढ़ा सकता है जिसके चलते आपकी मांसपेशियों में कमजोरी और झुनझुनाहट जैसी समस्याएं पैदा हो सकती हैं।

Khajur से बढ़ सकता है मोटापा

गर्मी में खजूर खाने के फायदे कम हैं और नुकसान ज्यादा। गर्मियों में खजूर का ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि खजूर में कैलोरी की मात्रा ज्यादा पाई जाती है जिसकी वजह से इसका ज्यादा सेवन करने से आपका वजन बढ़ सकता है।

खजूर से हो सकती है एलर्जी

खजूर का ज्यादा सेवन करने से आपको एलर्जी, पेट में दर्द, गैस और डायरिया जैसी परेशानियों से जूझना पड़ सकता है। इसका कारण खजूर में प्रिजर्वेटिव के तौर पर इस्तेमाल किया जाने वाला सल्फाइट है जो इन सब समस्याओं का कारण बन सकता है.

अस्थमा कर सकता है ट्रिगर

खजूर किसी स्ट्रीट वेंडर से न खरीदें क्योंकि ये ज्यादा नुकसानदायक होते हैं जो एलर्जी पैदा कर सकते हैं और एलर्जी अस्थमा को ट्रिगर कर सकती है। इसलिए, अस्थमा के रोगियों को खजूर का सेवन करते समय विशेष सावधानी बरतनी चाहिए।

अत्याधिक सेवन से बढ़ सकता है ब्लड शुगर

जितना खजूर से फायदा हो सकता है उसके विपरीत खजूर खाने के नुकसान भी हो सकते हैं यदि सही मात्रा में न लिया जाए। ब्लड शुगर के मरीजों को सीमित मात्रा में खजूर का सेवन करना चाहिए क्योंकि खजूर ग्लाइसेमिक फूड होता है जो ब्लड शुगर के लेवल को बढ़ा सकता है।

त्वचा पर रैशेज कर सकता है खजूर

खजूर का ज्यादा सेवन आपकी त्वचा के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है। खजूर में मौजूद सल्फाइट का ज्यादा सेवन करने से आपकी स्किन में खुजली और रैशेज की समस्या पैदा कर सकता है।

बच्चों के लिए हो सकता है नुकसानदायक

खजूर मोटा ड्राइ फ्रूट् है, पचाने के लिए इसे सही से चबाना जरुरी होता है। जबकि बच्चों की आंत विकासशील अवस्था में होती है जिसे खजूर को पचाना मुश्किल होता है और इसके चलते पेट से संबधित समस्याएं हो सकती हैं।

खजूर के प्रकार (Types of Dates)

हमारे आर्टिकल Khajur Khane ke Fayde में अब बात करते हैं खजूर के प्रकार की। खजूर को सबसे पुराने फलों में से एक माना जाता है जो प्राचीन काल से पोषण का स्रोत रहा है और आज के समय में भी खजूर को बेहद फायदेमंद माना जाता है वहीं कुछ अरब देशों के लिए खजूर को “जीवन का वृक्ष” (Tree of Life) भी कहा जाता है। तो आइये जानते हैं खजूर कितने प्रकार के होते हैं:

अजवा खजूर

अजवा खजूर खाने में बहुत मीठा और काफी चिकना होता है। ये सूखे लेकिन नरम होते हैं और ऐसा माना जाता है कि हर सुबह सात अजवा खाने से एक व्यक्ति को जहर से भी बचाया जा सकता है। ये एक सुपरफूड के रूप में जाने जाते हैं और ये महंगे तो होते हैं लेकिन ये इस कीमत के लायक हैं।

अंबरा खजूर

अंबरा खजूर बहुत ही उच्च गुणवत्ता के होते हैं और अपने बड़े आकार के साथ-साथ अपनी उपचार शक्तियों के लिए जाने जाते हैं। ये सऊदी अरब के मदीना क्षेत्र से निकलते हैं।

बरही खजूर

बरही खजूर बहुत समृद्ध होते हैं और इनका स्वाद कारमेल, ब्राउन शुगर, बटरस्कॉच या सिरप के समान होता है। ये बहुत नाजुक, देर से पकने वाले होते हैं और सभी खजूरो में सबसे छोटे भी होते हैं। इन खजूरों का आंतरिक भाग मलाईदार और चिकना होता है।

डेगलेट नूर खजूर

डेगलेट नूर खजूर को अर्ध-शुष्क खजूर माना जाता है और यह स्वाद में बहुत मीठा और आकार में मध्यम से बड़ा होता है। डेगलेट नूर खजूर को “खजूरों की रानी” (Queen of Khajur) माना जाता है। इनका स्वाद मीठे शहद की तरह होता है और ये काफी किफायती भी होते हैं। इनका उपयोग कई अलग-अलग व्यंजनों में किया जा सकता है। खाने को सजाने के लिए इन्हें समान टुकड़ों में काटना भी आसान होता है।

ड्राई खजूर

Khajur Khane ke Fayde
Khajur Khane ke Fayde

ड्राई खजूर पेड़ पर धूप में पकते हैं। इनके पास 12 महीने या उससे अधिक की लंबी शेल्फ लाइफ है। पांच साल तक उनके स्वादिष्ट स्वाद को बनाए रखने के लिए उन्हें फ्रीज भी कर सकते हैं। हर खजूर में लगभग 5 ग्राम फाइबर और लगभग 3 ग्राम प्रोटीन होता है। इसके अलाव इनमें विटामिन K, विटामिन C, आयरन, कैल्शियम और विटामिन B भी होते हैं। ये ऊर्जा का एक बड़ा स्रोत हैं।

हलवी खजूर

हलवी खजूर नरम खजूर होते हैं जिनका स्वाद शहद और कैरेमल जैसा होता है। “हलावी” नाम का अर्थ “मीठा” होता है। वे आकार में छोटे से मध्यम होते हैं ये अन्य खजूरों की तुलना में अधिक झुर्रीदार होते हैं जो आपके मुंह में जाते ही पिघल जाएंगे और कैरेमल फैन के लिए एकदम सही है। वे कई व्यंजनों में उपयोग किए जाते हैं।

मद खजूर

ये खजूर अल्जीरिया के हैं और बहुत मीठे हैं। ये आकार में आयताकार और काफी बड़े भी होते हैं।

कलमी खजूर

कलमी खजूर शुष्क होते हुए भी समृद्ध हैं और ये मूल रूप से ओमान के हैं। रमजान के त्योहारों के दौरान वे बहुत लोकप्रिय हैं। वे काले रंग के होते हैं और आमतौर पर बेलनाकार होते हैं। यह आकार में भी बहुत छोटा होता है। वे पोटेशियम और खनिजों में उच्च होते हैं और उनका उपयोग दस्त जैसी कई बीमारियों को रोकने में मदद के लिए भी किया जा सकता है।

खद्रवी खजूर

ये खजूर नरम और मीठे होते हैं। शुरुआत में ये नारंगी रंग के होते है और फिर पकने पर हल्के-भूरे रंग में बदल जाते हैं। ये आकार में बड़े और तिरछे होते हैं।

खोला खजूर

खोला खजूर का स्वाद बहुत ही मीठा होता है। ये मूल रूप से सऊदी अरब के अल खार्ज और अल कासीम क्षेत्रों में होते हैं। इनमें एंटीऑक्सिडेंट, खनिज और फाइबर उच्च मात्रा में पाया जाता है। ये खजूर वसा रहित, सोडियम मुक्त और कोलेस्ट्रॉल मुक्त भी हैं।

खुदरी खजूर

खुदरी खजूर गहरे भूरे रंग के होते हैं और झुर्रीदार होते हैं। ये मीठे होते हैं और आकार में छोटे और बड़े आकार में होते हैं। खुदरी खजूर में कैल्शियम, आयरन, पोटेशियम, मैग्नीशियम, फोलिक एसिड और विटामिन होते हैं।

इनमें फाइबर भी होता है और कई अध्ययनों ने साबित किया है कि वे शरीर को कैंसर से मुक्त रखने का एक प्रभावी तरीका हैं। वे कमजोर दिल को मजबूत करने के लिए भी कामगर माना गया है।

मबरूम खजूर

इस प्रकार के खजूर को प्रीमियम गुणवत्ता वाला माना जाता है और ये प्राकृतिक रूप से खनिजों के साथ-साथ एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं। वे चटपटे और बहुत मीठे होते हैं। जुलाई और अगस्त के महीनों के दौरान उनकी कटाई की जाती है।

मकतूम खजूर

ये खजूर आकार में बहुत बड़े होते हैं और मोटे होते हैं। ये लाल-भूरे रंग के होते हैं और थोड़े मीठी होते हैं। ये खजूर उनके लिए अच्छी च्वाइस है जिन्हें खजूर पसंद है लेकिन अधिक मीठा खाना पसंद नहीं करते हैं।

मेडजूल खजूर

मेडजूल खजूर बहुत मीठा और स्वादिष्ट होता है। ये नरम और रेशेदार होते हैं। ये आकार में लगभग तीन इंच लंबे और कभी-कभी उससे भी बहुत बड़े होते हैं और पकने पर लाल-भूरे रंग में बदल जाते हैं। ये शेक, स्टफिंग रेसिपी या एनर्जी बार जैसे व्यंजनों में उपयोग किए जाते हैं।

मिग्राफ खजूर

इन खजूरों को मेज्रफ तिथियां भी कहा जाता है और ये अपनी उच्च गुणवत्ता के कारण दक्षिणी यमन में बहुत लोकप्रिय हैं। ये आकार में बड़े होते हैं। इन खजूरों के लाभ और पोषक तत्व प्राप्त करने के लिए प्रतिदिन खाने की सलाह दी जाती है।

सफ़वी खजूर

Khali Pet Khajur Khane ke Fayde में सफ़वी खजूर सबसे उत्तम है। ये काले रंग के होते हैं। ये मीठे और विटामिन से भरपूर होते हैं। वो मदीना में उगाए जाते हैं और कई उपचार में लाभदायक होता है। अगर आप इन्हें खाली पेट खाते हैं तो ये पेट के कीड़ों को मारने में सक्षम होते हैं। इनमें खनिज भी बहुत अधिक होता है।

सघई खजूर

सघई खजूर को रियाद में उगाया जाता है। ये नरम नहीं होते हैं लेकिन काफी कुरकुरे होते हैं और इनका रंग भूरा होता है। वे सिरों पर पीले और झुर्रीदार होते हैं।

सैडी खजूर

लीबिया में सैडी खजूर काफी लोकप्रिय हैं और ये बहुत स्वादिष्ट और मीठे होते हैं। वे बहुत गर्म जलवायु में उगाए जाते हैं।

नरम खजूर

नरम खजूर तब काटे जाते हैं जब वे कच्चे और मुलायम होते हैं और बरही खजूर नरम खजूर का सिर्फ एक उदाहरण है।

सुक्कारी खजूर

सुक्कारी खजूर मीठे और कुरकुरे होते हैं और ये उच्च गुणवत्ता वाले और पौष्टिक होते हैं। ये दांतों की सड़न को भी रोक सकते हैं। इसके अलावा ये कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी मदद करता है। ये सऊदी अरब के अल कासिम क्षेत्र में होते हैं। सुक्कारी का मतलब मीठा होता है जो कि वास्तव में ये खजूर हैं। इन्हें “तिथियों के राजा” के रूप में भी जाना जाता है।

थूरी खजूर

थूरी खजूर सूखे और मीठे होते हैं। इन्हें ब्रेड डेट भी कहा जाता है क्योंकि ये बेकिंग के लिए आदर्श होते हैं। ये आकार में मध्यम से बड़े और आयताकार होते हैं। थूरी खजूर को एक शुष्क खजूर माना जाता है। ये अल्जीरिया में काफी लोकप्रिय हैं। थूरी खजूर को ग्रेनोला, ट्रेल मिक्स या मूसली के साथ मिलाया जाता है।

वेयरहाउस खजूर

वेयरहाउस खजूर बहुत लोकप्रिय हैं और ये आकार में बहुत बड़े होते हैं। इनमें एक छोटा बीज होता है और यह खजूर की अधिक महंगी किस्मों में से एक है हालांकि वो इस कीमत के लायक हैं और प्रोटीन से भरे हुए हैं।

जाहिदी खजूर

जाहिदी खजूर का स्वाद मीठा होता है। वे अर्ध-शुष्क और आकार में मध्यम होते हैं। ये सुनहरे-पीले रंग के होते हैं। ये एक बेहतरीन स्नैक भी होते हैं।

आशा है आपको हमारा आर्टिकल Khajur Khane ke Fayde पसंद आ रहा होगा। तो आईये अब बात करते हैं Pind Khajur Khane ke Fayde क्या हैं?

पिंड खजूर खाने के फायदे (Pind Khajur Khane Ke Fayde)

आईये अब बात करते हैं पिंड खजूर खाने के फायदे के बारे में।

  • ठंड में पिंड खजूर शरीर को तुरंत स्फूर्ति प्रदान करते हैं। ये ह्दय और मस्तिष्क को शक्ति तो देते ही हैं इसके साथ–साथ पित्त, वात और कफ को भी दूर करते हैं। इसमें कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, प्रोटीन, फॉसफोरस और पोटैशियम भरपूर मात्रा में मिलते हैं।
  • पिंड खजूर खाने से पेशाब की समस्या दूर होती है। बार–बार पेशाब आने पर दिन में 2 खजूर खाना फायदेमंद होता है। जो बच्चे बिस्तर पर पेशाब करते हैं उनको दूध में मिलाकर पिंड खजूर खिलाने से लाभ मिलता है।
  • भूख बढ़ाने के लिए पिंड खजूर का गूदा निकालर दूध में पकाएं फिर उसको ठंडा करके पीस लें। ये भूख बढ़ाता है और खाना भी पचाता है।
  • जो लोग वजन बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं वो दूध के साथ पिंज खजूर खाएं। ये वजन बढ़ाने में कारगर है।
  • दमे के मरीजों को 2 खजूर सुबह–शाम खाना चाहिए। इससे सर्दी और कफ दूर होते हैं।
  • रात को खजूर भीगाकर सुबह दूध के साथ खाने से ह्दय के मांसपेशियों और दिमाग को ताकत मिलती है।

खजूर खाने का सही तरीका

वैसे तो कभी भी खजूर खा सकते हैं लेकिन सुबह के समय खजूर खाना ज्यादा बेहतर माना जाता है। अगर आपका हीमोग्लोबिन कम है तो लंच करने के बाद खजूर खाएं। बच्चों को दिन में खाने के बीच खजूर देना अच्छा माना जाता है। इसके अलावा शाम के 4 से 5 बजे तक भी स्नैक्स के रूप में खजूर खा सकते हैं।

अगर आप फिटनेस फ्रीक हैं और एक्सरसाइज करते हैं तो प्री और पोस्ट एक्सरसाइज मील के तौर पर आप खजूर को अंडे की सफेदी के साथ ले सकते हैं इससे आपको कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन दोनों मिल जाएंगे।

खजूर का इस्तेमाल चीनी की जगह भी कर सकते हैं क्योंकि ये चीनी जैसा ही मीठा होता है। ये ऑनलाइन भी उपलब्ध है लेकिन इसे आप खुद घर पर भी बना सकते हैं इसके लिए बस आपको खजूर को धूप में सुखाकर मिक्सर में पीस लेंरू बस अब आपकी खजूर चीनी तैयार है।

कौन सा खजूर खाना चाहिए

खजूर खाने से शरीर को तुरंत एनर्जी मिलती है। हर रोज इसका सेवन करने से आपके शरीर को कई सारे लाभ मिलते हैं लेकिन अक्सर लोग कंफ्यूजन में रहते हैं कि सूखे खजूर यानि छुहारा ज्यादा फायदेमंद हैं या फिर गीले खजूर, तो आपकी कंफ्यूजन हम दूर कर देते हैं:

Khajur Khane Ke Fayde में सूखे खजूर, गीले खजूर की तुलना में ज्यादा पौष्टिक होते हैं लेकिन अगर आप वजन नहीं बढ़ाना चाहते हैं तो गीले खजूर खाएं क्योंकि सूखे खजूर में गीले खजूर की तुलना में अधिक कैलोरी होती है। 14 गीले खजूर में 282 कैलोरी जबकि 4 सूखे खजूर में 277 कैलोरी पायी जाती है।

1 दिन में कितने खजूर खाने चाहिए

कोई भी चीज जो आवश्यकता से अधिक ली जाती है नुकसान करती है ऐसे में खजूर भी एक लिमिट में ही खाना चाहिए। आपको 1 दिन में 3-4 खजूर से ज्यादा नहीं खाना चाहिए वैसे तो बस 2 ही खजूर खाने से आपके शरीर को पोषण मिल जाता है।

सुबह खाली पेट खजूर खाने से क्या होता है

वैसे तो खजूर खाने के फायदे तो अनगिनत हैं लेकिन फिर भी यदि खजूर सुबह खाया जाऐ तो उसका असर ज्यादा लाभकारी रहता है। आईये जानते हैं सुबह Khali Pet Khajur Khane ke Fayde.

  • सुबह खाली पेट खजूर खाने से आंतों के कीड़े खत्म करने में मदद मिलती है। इसके अलावा दिल मजबूत होता है और लीवर साफ होता है।
  • खजूर कोलेस्ट्रॉल लेवल और तनाव को कम करता है और इसमें फाइबर और आयरन भी मिलते हैं। तो अगर आप अपने कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करना चाहते हैं तो रोज सुबह 2 खजूर खाएं।
  • खजूर में अच्छी मात्रा में फाइबर मिलता है इसलिए इसके सेवन से कब्ज की समस्या भी दूर होती है।
  • शरीर में आयरन की कमी से अनीमिया की स्थिति उत्पन्न हो जाती है, चूंकि खजूर में उच्च मात्रा में आयरन होता है इसलिए नियमित रुप से खजूर का सेवन करने से एनीमिया जैसी बीमारी से बचा जा सकता है।
  • खजूर में कई विटामिन्स के साथ आवश्यक अमीनो एसिड और खनिज होते हैं जो मस्तिष्क की कोशिकाओं के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। तो खजूर को रोज सेवन करने से दिमाग की कार्यक्षमता में वृध्दि होती है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा जारी गाइडलाइंस के मुताबिक हर व्यक्ति को दिन में कम से कम 3.10 मिलीग्राम पौटेशियम की जरुरत होती है चूंकि खजूर पौटेशियम से भरपूर होता है तो इसका रोज सेवन करने से हाई ब्लड प्रेशर, हार्ट अटैक और दिल से जुड़ी और बीमारियों का जोखिम कम होता है।

गर्मी में खजूर खाने के फायदे (Garmi Mein Khajur Khane Ke Fayde)

वैसे तो सर्दियों में खजूर खाना ज्यादा फायदेमंद होता है लेकिन गर्मी में खजूर खाना हार्ट के लिए फायदेमंद होता है। खजूर में मौजूद पौटेशियम हार्ट को स्वस्थ्य रखता है। इसलिए इसके नियमित सेवन से हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी बीमारियों का खतरा कम होता है।

खजूर से शरीर को ऊर्जा मिलती है। गर्मी के दिनों में अक्सर ज्यादा थकान होती है तो खजूर का नियमित सेवन करने से ये समस्या दूर होती है।

गर्मियों में खजूर का सेवन करना हमारे पाचन तंत्र के लिए भी लाभदायक है। इसमें मौजूद फाइबर पाचन तंत्र को मजबूत करता है। इसके अलावा इसमें मौजूद पोषक तत्व भोजन को भी पचाने में भी मदद करते हैं जिससे अपच, गैस, कब्ज और पेट दर्द जैसी समस्या नहीं होती।

असली खजूर की पहचान कैसे करें

असली और नकली खजूर में अंतर करना बहुत मुश्किल है। नकली खजूर, कच्चे खजूर में गुड़ की चाशनी चढ़ाकर तैयार किया जाता है इसलिए बस इसके स्वाद से ही नकली और असली खजूर में अंतर पता किया जा सकता है। असली खजूर का मीठापन मध्यम दर्जे का होता है वहीं नकली खजूर शक्कर जैसा मीठापन देता है।

ये भी पढ़ें Cheston Cold Tablet Uses In Hindi

इसके अलावा इनकी पहचान पानी में डालकर भी की जा सकती है। असली खजूर को पानी में डालने पर वो रंग नहीं बदलेगा जबकि नकली खजूर को पानी में डालने पर गुड़ की चादर और जंगली खजूर अलग-अलग हो जाएंगे।

तो दोस्तों उम्मीद है आपको हमारा ये आर्टिकल Khajur Khane ke Fayde बहुत पसंद आया होगा। यदि हमारे द्वारा बताई गई जानकारी में कोई त्रुटि हो तो कृपया हमें कमेंट करके अवश्य बताऐं।

Source : Google

Leave A Reply

Your email address will not be published.