दिल्ली सरकार का ऑटो और टैक्सी चालकों को आर्थिक मदद का ऐलान, राशन कार्ड धारकों को 2 महीने तक मुफ्त राशन

0

दिल्ली में कोरोना के मामले बढ़ने और लॉकडाउन के कारण दिल्ली के तमाम गरीब वर्ग के लोगों पर ​आर्थिक संकट आ गया है। डेली वेज़ के आधार पर अपना भरण पोषण करने वालों पर आर्थिक संकट आ गया है इस गंभीर स्थिति को देखते हुए आज (4 मई 2021) दिल्ली के मुख्यमंत्री अ​रविन्द केजरीवाल ने एक प्रेस कांफ्रेंस करते हुए दिल्ली के ऑटो और टैक्सी चालकों को आर्थिक मदद का ऐलान किया।

5000 रूपये की आर्थिक मदद का ऐलान

Sponsored Ad

मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने आज ट्वीटर पर प्रेस कांफ्रेंस करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार ने ऑटो और टैक्सी चालकों को पिछली बार की तरह इस बार भी 5000 रूपये की ​आर्थिक सहायता देने का निर्णय लिया है। केजरीवाल ने कहा कि टैक्सी और ऑटो चालक दिनभर काम करके थोड़ा बहुत पैसा घर ले जाते थे और उसी से उनका घर चलता था। इनके पास कुछ सेविंग भी नहीं हाती, वे गरीब लोग होते हैं लेकिन पिछले कुछ हफ्तों से दिल्ली में लॉकडाउन है जिससे इनकी रोज़ रोटी बन्द हो गई है।

मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने बताया कि हमने पिछली बार भी 1 लाख 56 हजार ऑटो और टैक्सी ड्राईवर की मदद की थी।

उन्होने ट्वीटर पर कैप्शन में लिखा “ऑटो और टैक्सी चालक दिल्ली की परिवहन व्यवस्था का अभिन्न अंग है। लॉकडाउन के दौरान ऑटो और टैक्सी चालकों की रोज़ी रोटी पर बुरा असर पड़ता है। पिछले साल की तरह इस बार भी हमने दिल्ली के ऑटो और टैक्सी चालकों को ₹5 हजार की सहायता राशि देने का निर्णय लिया है।”

72 लाख राशन कार्ड धारकों 2 महीने तक मुफ्त राशन

Sponsored Ad

Sponsored Ad

ऑटो और टैक्सी चालकों की मदद के बाद मुख्यमंत्री ने एक अन्य ट्वीट में दिल्ली के 72 लाख राशन कार्ड धारकों को भी मदद का ऐलान किया। उन्होने कहा कि दिल्ली में 72 लाख राशन कार्ड धारकर हैं उनको अगले 2 महीने के लिए मुफ्त में राशन ​दिया जाऐगा। उन्होने कहा, आर्थिक तंगी से जूझ रहे लोगों के लिए दिल्ली सरकार ने ये निर्णय लिया है।

उन्होेने ट्वीटर पर कैप्शन में लिखा है कि “कोरोना लॉकडाउन के कारण गरीब आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं। इस वक्त उनकी सहायता करने के लिए दिल्ली सरकार दिल्ली में रहने वाले 72 लाख राशन कार्ड धारकों को अगले दो महीने तक मुफ्त राशन देगी।”

मुख्यमंत्री ने कहा ये ​बहुत कठिन दौर है जिससे हम गुज़र रहे हैं। लोगा परेशान हैं, ये दूसरी लहर बहुत खतरनाक है, चारों तरफ दुख है। उन्होने लागों से हाथ जोड़कर एकदूसरे की मदद करने की अपील की।

आपको बता दें दिल्ली में सबसे पहले 1 हफ्ते का लॉकडाउन लगाया गया था लेकिन स्थिति की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए फिलहाल इसे 9 मई तक बढ़ा दिया गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.