आपके बच्चे का सुरक्षित भविष्य सुनिश्चित करने के लिए इन्वेस्टमेंट ऑप्शन्स

0

क्वालिटी शिक्षा का खर्चा अधिक है। विदेश में शिक्षा अधिकांश माता-पिता की पहुंच से बाहर है। उनके पास बैंकों से शिक्षा ऋण लेने के अलावा कोई विकल्प नहीं है और उनके बच्चों को लोन अमाउंट चुकाने के लौंग टर्म दायित्व के साथ, उच्च इंटरेस्ट रेट का भुगतान भी करना पड़ता है।

इन सब कारणों से, समय रहते, आप अपने बच्चों की सुरक्षित भविष्य सुनिश्चित करने के लिए इन्वेस्टमेंट करें। कहाँ करें, कैसे करें, कब करें और किसमे इन्वेस्ट करें? ये सरे प्रसन आपके मन में आना स्वाभाविक है। इन्ही सरे प्रश्नों के जबाब आपके लिए यहाँ प्रस्तुत है।

Sponsored Ad

इन्वेस्टमेंट कब शुरू करना चाहिए?

आपके बच्चे की उम्र यह तय करने में भूमिका निभाती है कि आपको कब इन्वेस्ट करना शुरू करना चाहिए। जब आपका बच्चा स्कूल जाना शुरू करता है और तब आप इन्वेस्ट करना शुरू करते हैं, तो बहुत कुछ हासिल होता है। जल्दी शुरू करने से आपको कम इन्वेस्टमेंट करने का फायदा मिलता है। यह आपको बचत करने के लिए अधिक समय, अधिक रिस्क लेने की क्षमता और कम्पाउंडिंग के लाभ भी देता है। जैसे-जैसे आपका बच्चा बड़ा होता है, ये लाभ कम होते जाते हैं।

आपके बच्चे के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए ओप्शन्स:

अपने बच्चे की उम्र को ध्यान में रखते हुए, आप अपने इन्वेस्टमेंट की योजना कैसे बना सकते हैं, इसकी टाइम टेस्टेड और प्रूव किये गए रणनीतियाँ हैं, जिनके द्वारा आप एक अपने बचत के पैसे से अच्छा रिटर्न हासिल कर सकते हैं।

Sponsored Ad

Sponsored Ad

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY)

यह बेटियों के लिए एक डिपाजिट स्कीम है, जिसे सरकार के ‘सेव द गर्ल चाइल्ड, टीच द गर्ल चाइल्ड’ (बेटी बचाओ, बेटी पढाओ) अभियान के रूप में शुरू किया गया है। सुकन्या समृद्धि योजना का खाता लड़की के जन्म के बाद 10 साल की उम्र तक किसी भी समय खोला जा सकता है। इसे किसी भी डाकघर या कमर्शियल बैंकों की एप्रूव्ड ब्रांचेस  में खोला जा सकता है। खाता खुलने की तारीख से 21 साल तक, या जब तक लड़की शादी करने का फैसला नहीं कर लेती, तब तक यह खाता चालू रहता है। आप उसकी उच्च शिक्षा के फंड के लिए, उसके वयस्क (एडल्ट) होने पर, शेष राशि (अमाउंट) का 50% निकाल सकते हैं।

सुकन्या योजना कैलकुलेटर

जो व्यक्ति सुकन्या समृद्धि योजना SSY में इन्वेस्ट करने का विचार बना रहे हैं, वे सुकन्या योजना कैलकुलेटर का उपयोग करके देख सकतें हैं की मेच्यूरिटी के समय उन्हे कितना पैसा मिलेग। सुकन्या योजना कैलकुलेटर का उपयोग करने के लिए, उन्हें योजना की एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया (eligilility criteria ) को पूरा करना होगा। वर्तमान में, योजना द्वारा दी जाने वाली इंटरेस्ट रेट 7.6%, प्रति वर्ष है। योजना के अनुसार, नीचे दिए गए व्यक्ति SSY खाता खोल सकते हैं:

  • बेटी भारत की निवासी होनी चाहिए।
  • बेटी की उम्र 10 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।
  • एक परिवार में दो से अधिक लड़कियों के लिए सुकन्या समृद्धि योजना खाता नहीं खोला जा सकता है।

व्यक्ति द्वारा दर्ज किए गए डिटेल्स के आधार पर, सुकन्या योजना कैलकुलेटर यह निर्धारित करता है कि व्यक्ति को मेचुरिटी पर कितना पैसा प्राप्त होगा। योजना के मेचुरिटी का समय 21 वर्ष है।

सुकन्या योजना कैलकुलेटर  कैसे काम करता है? यह जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

इक्विटी म्यूचुअल फंड्स 

जब आपका बच्चा छोटा है और आपका रिटायरमेंट कम से कम 15 से 20 साल दूर है, तब इक्विटी म्यूचुअल फंडस में इन्वेस्टमेंट शुरू करना सही है। यह आपको शेयर बाजार का गिरना और अस्थिरता जैसे झटके का आपके फण्ड पर असर को काम करता है। इक्विटी में इन्वेस्ट करने के लिए तकनीकी ज्ञान और अपडेट रहना आवश्यक है, जो हर किसी के लिए संभव नहीं है। इसलिए, बेहतर ऑप्शन इक्विटी म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट करना होता है। फंड्स मैनेजिंग कपंनियों के एक्सपर्ट्स कम से कम रिस्क वाले शेयरों को चुनना जानते हैं, और  सुनिश्चित करते हैं कि आपका फंड लौंग टर्म में बढ़ें।  

Sponsored Ad

जब आपका बच्चा 4 या 5 साल का हो तो आप अपने बच्चे की शिक्षा के लिए विशेष रूप से एक इक्विटी म्यूचुअल फंड पोर्टफोलियो बना सकते हैं। यह माईनर्स के लिए खाता खोलकर और सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (एसआईपी) द्वारा इक्विटी म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट कर के किया जा सकता है।

पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड (पीपीएफ)- सार्वजनिक भविष्य निधि 

सरकार द्वारा प्रोविडेंट फण्ड एकाउंट्स पर इंटरेस्ट रेट में कटौती के बाद भी, पीपीएफ अभी भी पेरेंट्स द्वारा पसंद किया जाता है। पीपीएफ में इन्वेस्टमेंट, अनुशासन को बढ़ावा देता है, क्योंकि आप 15 साल की मेचुरिटी पीरियड अंत होने पर ही कॉर्पस निकाल सकते हैं। यह आपको ईईई (एक्सेम्पट-एक्सेम्पट-एक्सेम्पट) टैक्स छूट का फ़ायदा देता है। चूंकि प्रिंसिपल अमाउंट, इंटरेस्ट और टोटल मेचुरिटी अमाउंट टैक्स फ्री हैं, इसलिए आप शिक्षा के लिए फण्ड तैयार कर सकते हैं

डेट म्यूचुअल फंडस 

यह एक अच्छा ऑप्शन है जहाँ आप अपने फंड को पार्क कर सकतें हैं, खासकर यदि आपका बच्चा पहले से ही कॉलेज जाने की तैयारी कर रहा है। सही रूप से, आप अपने सरप्लस पैसे को ऐसे पोर्टफोलियो,  जिसमे डेट फंडोंस का ज्यादा एक्सपोज़र हो, में डाल सकते हैं। डेट म्यूचुअल फंडस फाइनेंसियल इंस्ट्रूमेंट हैं जो फिक्स्ड इनकम सिक्योरिटीस, जैसे ट्रेजरी बिल, सरकारी सिक्योरिटीस, और कॊरपोरेट बॉन्डस में इन्वेस्ट करते हैं।

मनी-बैक इन्शुरन्स प्लान्स

ये नॉन-लिंक्ड प्लान्स हैं जिन्हें आपके बच्चे के एजुकेशनल गोल्स को पूरा करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। पॉलिसी टर्म के दौरान कई पे आउट्स के माध्यम से डेथ बेनिफिट और लिक्विडिटी प्रदान करते हैं। आपके पास सर्वाइवल बेनिफिट (पॉलिसी राशि से अधिक) लेने का ऑप्शन पॉलिसी की टर्म के दौरान होता है। आमतौर पर पॉलिसी टर्म 15 वर्ष होती है, जबकि प्रीमियम पेमेंट टर्म 10 से 11 वर्ष हो सकती है। आपके बच्चे के अलावा, आपको पॉलिसी की मचुरिटी पर बोनस भी प्राप्त होगा।

…………………………………………………………………………………………………….

सुकन्या योजना कैलकुलेटर का उपयोग करने का तरीका ………….

Leave A Reply

Your email address will not be published.