अपनी Diesel Car को बदलें Electric Car में, जानिये क्या होगा खर्च और क्या है प्रक्रिया

0

देश में बढ़ते प्रदूषण के हालात देख कर अब भारत सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर थोड़ी गंभीर हो गई है. वाहन निर्माता कंपनियां भी आए दिन अब नए नए इलेक्ट्रिक वाहन निकाल रही है. हालांकि इन वाहनों की कीमत अभी भी बेहद ज्यादा है जो एक आम व्यक्ति की पहुंच से बाहर है. इसी के चलते अब दिल्ली सरकार ने पुरानी डीजल वाली कारों को लेकर एक बड़ी घोषणा की है।

Diesel Car पर दिल्ली सरकार का रूख

Sponsored Ad

जानकारी के लिए बता दें कि दिल्ली में 10 साल पुराने डीज़ल वाहनों को चलाने पर रोक लग चुकी थी लेकिन अब दिल्ली की सरकार ने देश में 10 साल पुरानी डीज़ल कार को फिर से चलाने के लिए हामी कर दी है परन्तु इसके साथ सरकार ने एक शर्त रखी है. शर्त यह है कि यदि आपको पुरानी डीज़ल वाली कार चलानी है तो पहले आपको उसे Electric Car में कन्वर्ट करवाना होगा, उसी के बाद आपको वह कार चलाने की अनुमति मिलेगी।

ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर का ट्वीट

दिल्ली के ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर कैलाश गहलोत ने इसकी जानकारी अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए ट्वीट कर के दी. उन्होंने कहा कि “दिल्ली अब इंटरनल कंब्शन इंजन (ICE) की इलेक्ट्रिक रेट्रोफिटिंग के लिए रेडी है. ऐसे में अगर आपकी डीज़ल गाड़ी फिट पाई जाती है उसे इलेक्ट्रिक इंजन में बदल सकते हैं. जल्द ही विभाग इलेक्ट्रिक किट बनाने वाली कंपनियों की लिस्ट शेयर करेगा जिसके जरिए 10 पुरानी डीज़ल गाड़ियों का इस्तेमाल किया जा सकेगा।”

Sponsored Ad

Sponsored Ad

Diesel Car को Electric Car में कन्वर्ट प्रोसेस

किसी भी Diesel Car को Electric Car में बदलना बहुत आसान काम नहीं है. यह ठीक वैसा ही है जैसे अस्पताल में किसी मरीज की सर्जरी करना क्योंकि Diesel Car और Electric Car दोनों का डिजाईन बेहद अलग होता है और दोनों में ही अलग अलग पार्ट्स का इस्तेमाल किया जाता है. डीज़ल कारों को इस तरह से डिजाइन नहीं किया गया कि उन्हें बैटरी से चलाया जा सके. ऐसे में इलेक्ट्रिक किट बनाने वाली कंपनियों को काफी रिसर्च और डिवेलपमेंट की जरूरत पड़ती है. तो आइये जाने कैसे होता है यह पूरा प्रोसेस।

ये भी पढ़ें Subsidy for Buying Electric Vehicles

सबसे पहले किसी भी डीज़ल कार से उसका डीज़ल इंजन बाहर निकाला जाता है और इस जगह पर एक इलेक्ट्रिक मोटर, हाई-वोल्टेज वायरिंग सर्किट और कंट्रोल यूनिट फिट किया जाता है. इस कार को कन्वर्ट करने में काफी समय और खर्चा आ सकता है।

Diesel से Electric बनाने में खर्च

जैसा कि हमने उपर बताया कि ये एक आसान काम नहीं ​बल्कि एक ​जटिल प्रकिया है फिर भी रिपोर्ट्स की माने तो किसी भी Diesel Car को Electric Car में बदलने के लिए 4 से 6 लाख रुपये तक का का खर्च आ सकता है, साथ ही यह इस बात पर निर्भर करता है कि डीजल गाड़ी फिटनेस लेवल कितना है और किस मॉडल की डीज़ल कार है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

x