DCGI ने दी कोविशील्ड और कोवैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी

0 222

आज 3 जनवरी को DCGI ने प्रेस कान्फ्रेस करके सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड और भारत बॉयोटेक की कोवैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है। इस निर्णय के बाद इन दोनो वैक्सीन का इस्तेमाल आम लोगों के लिए किया जा सकेगा।

आपको बता दें SEC ने 1 जनवरी और 2 जनवरी को DCGI से सिफारिश की थी कि कोविशील्ड और कोवैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दे दी जाए जिस पर DCGI ने 3 जनवरी को इसकी इज़ाजत दे दी है।

प्रेस कान्फ्रेस के दौरान DCGI के निदेशक वीजी सोमानी ने कहा कि कोविशील्ड और कोवैक्सीन बिल्कुल सुरक्षित है और दोनों का इस्तेमाल इमरजेंसी के दौरान किया जा सकता है। वैक्सीन के दो डोज़, दो महीने में दिये जाऐंगे।

DCGI के निदेशक ने बताया कि कोविशील्ड की क्षमता 70.42% थी जो कि अन्य देशों में किये गऐ अध्ययनों से मेल खाते हैं DCGI के अनुसार इमरजेंसी इस्तेमाल के बावजूद इस वैक्सीन का क्लिनिकल ट्रायल जारी रहेगा।

इसके अलावा DCGI ने भारत की दूसरी वैक्सीन, कोवैक्सीन के बारे में बताया कि उन्होने फेज़ 3 में 25,800 लोंगों पर ट्रायल शुरू किया था और अब तक 22,500 लोगों को ये वैक्सीन दिया जा चुका है। वैक्सीन देने के बाद जो आंकड़े इकट्ठा किऐ गऐ हैं वे पूरी तरह से सुरक्षित हैं और कोवैक्सीन की सुरक्षा जबरदस्त है।

वैक्सीन के क्या हैं साईड इफैक्टस?

TNG App Install

DCGI निदेशक वीजी सोमानी ने कहा कि यदि वैक्सीन के ज़रा भरी साइड इफेक्ट हुए तो वे इसे एप्रूव नहीं करेंगे। उन्होने कहा कि वैक्सीन 110% सुरक्षित है। DCGI निदेशक के अनुसार कुछ इफैक्ट होते हैं लेकिन उसकी चिंता की जरूरत नहीं है। हल्का बुखार, एलर्जी या दर्द तो हर वैक्सीन से होते हैं।

क्या होगी वैक्सीन की कीमत?

कोरोना वैक्सीन की कीमत को लेकर अभी कोई खुलासा नहीं किया गया है परन्तु ये हो सकता है कि कोरोना वॉरियर्स को ये वैक्सीन मुफ्त दी जाऐगी। आम लोगों के लिए वैक्सीन फ्री होगी या कोई कीमत तय की जाएगी फिलहाल इसकी कोई जानकारी नहीं दी गई है।

वैक्सीन की कीमत को लेकर अलग—अलग मत हैं। सूत्रों के अनुसार केन्द्र सरकार ने ये फैसला राज्य सरकारों पर छोड़ा कि राज्य सरकारें चाहे तो अपने खर्चे पर मुफ्त वैक्सीन मुहैया करा सकती है। वैक्सीन की कीमत को लेकर अभी ओर इंतज़ार करना होगा।

क्या है नपुंसकता की अफवाह?

कान्फ्रेस के बाद बाहर जाते हुए एक रिपोर्टर ने पूछा कि अफवाह है कि इस वैक्सनी से नपुंसकता बढेगी? तो इसके जवाब में DCGI निदेशक ने कहा कि ये सब बकवास है ऐसी अफवाहों पर ध्यान देने की कोई जरूरत नहीं है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.