Coronavirus से बचने के आयुर्वेदिक Tips in Hindi

0 436

Covid-19 मतलब Coronavirus. जिसने अब पूरे विश्व को अपनी चपेट में ले लिया है। स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। चीन के बाद अगर कोई क्षेत्र Coronavirus से ज्यादा प्रभावित हुआ है तो वो है युरोप और ईरान।

लेकिन ऐसा नहीं कि इन्ही क्षेत्रों में Coronavirus का प्रकोप है, अब ये भारत में भी तेजी से पैर पसार रहा है। जरूरत है तो बस सावधानी बरतने की।

अपको बता दें कि पूरे विश्व में Coronavirus अबतक 9000 से ज्यादा मौत हो चुकी है। 2 लाख से ज्यादा संक्रमित हैं। 85000 से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं

आंकड़ों के अपडेट के लिए यहां क्लिक करें।

क्या हैं Coronavirus के Symptoms (लक्षण)

WHO के अनुसार शरीर में coronavirus के प्रवेश के 14 दिनों के बाद उसके symptoms दिखाई देने लगते है। कुछ का तो ये मानना भी है कि लक्षण 24 दिनों के बाद भी दिखाई दे सकते हैं। coronavirus symptoms बहुत साधारण से होते हैं जिससे कोई भी आसानी से भ्रमित हो जाता है। जैसे सर्दी जुकाम, खांसी या साधारण बुखार आदि

TNG App Install

यदि कोई व्यक्ति coronavirus से संक्रमित हो जाता है तो सबसे पहले खांसी, सूखी खांसी होती है। उसके बाद मरीज को सांस लेने में दिक्कत होने लगती है। गहरा सांस लेने पर खांसी आती है। फिर बुखार आने लगता है उसके बाद सिर में दर्द का अनुभव होता है और मांस पेशियों में दर्द का भी होना शुरू हो जाता है।

Coronavirus से bachav ke आयुर्वेदिक Tips

तो अब सवाल ये है कि Coronavirus से bachav कैसे संभव है? वो है आपको अपना इम्यून सिस्टम। जी हां यदि आपके शरीर का इम्यून सिस्टम अच्छा है तो आप Coronavirus से बच सकते हैं।

इस लेख में हम आपको बता रहे हैं ​कुछ Ayurvedic Tips जिससे आप अपने शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाकर Coronavirus से सुरक्षित हो सकते हैं।

1. Coronavirus से बचने का सबसे पहला उपाय है कि आप हर दिन हल्का गर्म गुनगुना पानी पीयें

2. आंवला, गिलोय, एलोवेरा और नींबू, ये सब आपके शरीर का इम्यून सिस्टम को बढ़ाते हैं इसलिए नियमित तौर पर इनका सेवन करना शुरू करें।

3. तुलसी के कुछ पत्तों का रस साधारण पानी में डाल कर पीने से भी आपके शरीर का इम्यून सिस्टम दुरूस्त होता है।

4. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए गर्म दूध में थोड़ी हल्दी डालकर पीना भी एक उत्तम उपाय है।

5. गुडूच्यादि काढ़ा, अष्टादसांग काढ़ा, सिरिशादी काढ़ा एवं अमृतउत्तरम काढ़ा आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है।

6. नीम की पत्तियों, राल, गुग्गल, देवदारु और थोड़ा कपूर को साथ में जलाने से उठने वाला धुंआ आपके आसपास के वातावरण को स्वच्छ करता है। जिससे हवा में फैले अन्य विषाणु भी नष्ट हो जाते है।

7. गुग्गल, इलायची, वचा, लौंग, तुलसी, खांड और गाय का घी को एक साथ मिलाकर जलाने से भी वातावरण शुद्ध होता है।

8. तुलसी की 10 पत्तियां, 8 काली मिर्च, 6 लौंग, 2 चम्मच अदरक का रस और शहद मिल कर सेवन करने से शरीर की इम्यूनिटी में बढ़ोत्तरी होती है।

9. चाय में 10 12 तुलसी के पत्ते, थोड़ी अदरक, 5 या 6 काली मिर्च, 5 6 लौंग और थोड़ी दालचीनी डालकर पीना भी शरीर के लिए फायदेमंद होता है।

10. डॉक्टरों के द्वारा एवं स्वस्थय मंत्रालय के द्वारा समय समय पर जारी दिशा निर्देशों का पालन भी करते रहना चाहिए।

यदि फिर भी कोई व्यक्ति से संक्रमित हो जाता है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.