Corn Flour in Hindi | क्या है कॉर्नफ्लोर और मक्का के आटे में अंतर

0 80

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि कॉर्नफ्लोर क्या है और ये मक्का के आटे से किस तरह अलग है? इस आर्टिकल में हम बताऐंगे Corn flour in hindi और इसके फायदे साथ ही इसे कहां – कहां उपयोग में लाया जाता है। अगर आप नहीं जानते तो आज हम आपको Corn flour के बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं।

हम सब जानते हैं कि हमारे देश और दुनिया में कई प्रकार के अनाजों को उगाया जाता है और मक्का भी उन अनाजों में से एक हैं और हर एक अनाज की अपनी अलग खासियत होती है, तो आइये सबसे पहले जानते हैं कि Corn Flour क्या होता है और इसे हिन्दी में क्या कहते हैं?

Corn Flour in Hindi (कॉर्नफ्लोर क्या है)

Corn Flour को हिन्दी में कॉर्नस्टार्च पाउडर कहा जाता है जो मक्का के आटे का स्टार्च होता है जिसे कई प्रकार के व्यंजनों में उपयोग किया जाता है या फिर ये कहें कि मक्का के ऊपरी भाग को सीड कवर कहा जाता है और इसके आन्तरिक भाग को इंडोस्पर्म कहा जाता है। इस आतंरिक भाग, इंडोस्पर्म जो सफ़ेद रंग का होता है उसे सुखाकर पीसा जाता है और इसी को Corn Starch या Corn Flour कहा जाता है।

मक्का का आटा और कॉर्नफ्लोर में अंतर

TNG App Install

दोस्तों कुछ लोग मक्के के आटे (Maize Flour) को ही कॉर्नफ्लोर समझ लेते हैं लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है, तो आइये जानते हैं Corn Starch और Corn Flour में क्या अंतर है। मक्की का आटा कॉर्नमील फ्लोर (Corn Meal Flour) होता है जबकि कॉर्न फ्लोर मक्की का स्टार्च होता है जिसे कॉर्न स्टार्च (Corn Starch) भी कहा जाता है।

Corn Flour को बनाने के लिए पहले मक्के के दाने से उसका छिलका हटा दिया जाता है और फिर उसे पाउडर की तरह पीस लिया जाता है जबकि मक्की का आटा, मक्के के दानों को बिना छीले, सुखाकर पीसकर तैयार किया जाता है। मक्की का आटा पीले रंग का होता है ये दरदरा या फिर बारीक होता है।

इसके विपरीत Corn Flour सफेद या हल्के पीले रंग के पाउडर फार्म में मिलता है। या फिर यूं कहें कि मक्के के दानों से छिलका हटाकर पीसकर बनाये गए स्टार्च को Corn Flour या Corn Starch कहा जाता है जो सफेद रंग का होता है और काफी चिकना होता है।

मक्का का आटा (Maize Flour) में मक्का का ऊपरी भाग (सीड कवर) और आन्तरिक भाग इंडोस्पर्म, दोनों मिक्स होते हैं इसलिए ये दरदरा और पीले रंग का होता है जबकि कॉर्नफ्लोर (Corn Flour) में केवल मक्का का आन्तरिक भाग ही होता है इसलिए ये सफेद पाउडर के रूप में दिखाई देता है।

Corn Flour को अलग – अलग देश में अलग – अलग नाम से जाना जाता है जैसे इसे भारत और ब्रिटेन में Corn Flour और अमेरिका में Corn Starch कहा जाता है।

कॉर्नफ्लोर और आरारोट (Ararot)

जैसा कि हम सब जानते हैं कि कॉर्न (Corn) को हिंदी में मक्का कहते हैं और Flour को हिंदी में आटा कहते हैं तो इसलिए कॉर्नफ्लोर को हिंदी में मक्के का आटा कहते हैं लेकिन कॉर्नफ्लोर में मक्का का केवल आंतरिक भाग ही होता है। कॉर्नफ्लोर को भारत में कई जगह अरारोट (Ararot) के नाम से जाना जाता है लेकिन ये सही नहीं है आरारोट और कॉर्नफ्लोर दोनों अलग चीजें हैं।

कॉर्नफ्लोर का सब्सटीट्यूट (Corn Flour Alternative)

अरारोट (Ararot) को कॉर्नफ्लोर का सब्सटीट्यूट कहा जाता है। अरारोट दिखने में बिल्कुल कॉर्नफ्लोर की तरह ही होता है दोनों सफेद रंग के पाउडर फॉर्म में होते हैं लेकिन दोनों में काफी अतंर है। अरारोट भी एक प्रकार का स्टार्च है जो एरोरूट पेड़ की जड़ से बनाया जाता है। जिन लोगों को ग्लूटेन अलर्जी होती है उनके लिए अरारोट काफी फायदेमंद साबित होता है।

Ararot को व्रत के दौरान खाने में उपयोग किया जाता है। इसके अलावा लगभग हर व्यक्ति ने गोल गप्पे या पानी पुरी की दुकान पर आलू की टिकी अवश्य ही खाई होगी। आलू की टिक्की बनाने में भी अरारोट का उपयोग किया जाता है। अरारोट फ्राई चिकन बनाने में भी काम आता है क्योंकि इसमें मिश्रण को बांधने का गुण होता है। अरारोट, चिकन मिश्रण और आलू टिक्की को बांधने और क्रिस्पी बनाने का काम करता है।

कॉर्नफ्लोर स्वास्थ्य के लिए कैसा है (Is Corn Flour Good or Bad for health)

कॉर्नफ्लोर हमारे लिए उपयोगी है इसमें बहुत सारे पोषक तत्व मिलते है लेकिन कई बिमारियों में डॉक्टर इसे नहीं खाने की सलाह भी देते हैं। आशा है आपको हमारा आर्टिकल Corn Flour in Hindi पसन्द आ रहा होगा तो आइये जानते हैं Corn Flour के फायदे और नुकसान:

कॉर्नफ्लोर के फायदे (Benefits of Corn Flour)

corn flour in hindi
Image Source : Pixabay
  • Corn Flour में विशेष प्रकार का पॉलीफेनोल्स एंटीओक्सिडेंट होते हैं जो आपके शरीर की सूजन को कम करके आपके स्वास्थ्य के निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान देता है।
  • Corn Flour में फाइबर की अच्छी मात्रा होती है। एक बड़ी चम्मच में लगभग 1 ग्राम फाइबर मौजूद होता है जो एक वयस्क मानव शरीर के लिए आवश्यक होता है। इसी प्रकार इसमें प्रोटीन भी अधिक मात्रा में पाया जाता है।
  • Corn Flour में मौजूद अघुलनशील फाइबर जैसे ऐमिलोस, सेल्यूलोस और लिग्निन पाचन क्रिया को आसान कर देता हैं जो आँतों के लिए फायदेमंद होता है।

कॉर्नफ्लोर के नुकसान (Side Effects of Corn Flour)

ऑर्गेनिक रूप में उगाये गये कॉर्न जिसका उपयोग आटा बनाने के लिए होता है, उसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट और रेसिस्टेंट स्टार्च पाया जाता है जो शरीर के विभिन्न भागों के सही रूप से चलाने में मददगार होता है लेकिन आजकल बाजार में उपयोग किये जाने वाले कॉर्न को जेनेटिक रूप से संशोधित किया जाता है।

कीटनाशकों के कारण नुकसान

कॉर्न पर खतरनाक कीटनाशकों का छिड़काव भी किया जाता है जो मानव शरीर के लिए बिलकुल अच्छा नहीं माना जाता है। एक शोध के अनुसार यह सभी फ्रक्टोस कॉर्न सिरप में अधिक होता हैं जो कैंसर, हाई कोलेस्ट्रॉल, फैटी लीवर, और डायबिटीज जैसी बीमारियों से जुड़े हैं।

जेनेटिकली संशोधन के कारण नुकसान

कॉर्न को जब जेनेटिकली संशोधित किया जाता हैं तो इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्वों के अवशोषण की प्रक्रिया काफी हद तक प्रभावित होती है और यह फ़ाइटिक एसिड में उच्च होता है जो शरीर को जरूरी पोषक तत्वों को अवशोषित करने और उसका उपयोग करने से रोकता है।

डायबिटीज़ मरीज़ के लिए नुकसानदायक

Corn Flour में ज्यादा मात्रा में कैलोरीज़ एवं कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है जो वजन कम करने में बाधा उत्पन्न करता है। इसके अलावा इसमें कार्बोहाइड्रेट की अधिक मात्रा होने के कारण यह डायबिटीज़ के मरीज़ के शरीर में ब्लड ग्लूकोस के स्तर को तुरंत बढ़ाता है जो फैट में परिवर्तित हो जाता है इसलिए डायबिटीज़ एवं मोटापे से ग्रस्त लोगों की डाइट में इसे शामिल नहीं किया जाता है।

हृदय सम्बंधित समस्याएं हो सकती हैं

Corn Flour का अधिक उपयोग आपके शरीर में LDL को बढ़ा सकता है जो एक खराब कोलेस्ट्रॉल है। यदि आपके शरीर में ऑक्सीडाइज्ड हो जाता है तो यह एथेरोस्क्लेरोसिस का कारण बन सकता है। इसके अलावा Corn Flour का अधिक उपयोग हृदय सम्बंधित समस्याएं भी पैदा कर सकता है। हमारे आर्टिकल Corn Flour in Hindi में अब बात करते हैं कॉर्नफ्लोर के उपयोग की।

कॉर्नफ्लोर के उपयोग (Uses of Corn Flour)

  • Corn Flour का उपयोग कई व्यंजनों को बनाने में किया जाता है जैसे कटलेट, कोफ्ता या फिर इसी तरह के डीप फ्राइड फूड बनाते समय उसे बांधने के लिए किया जाता है।
  • इसके अलावा इसका उपयोग सॉस, सूप आदि को गाढ़ा करने के लिए भी किया जाता है।
  • पतले दूध को गाढ़ा करने के लिए भी इसका उपयोग किया जाता है उसके लिए दूध में थोड़ा सा Corn Flour मिला सकते हैं। ऐसे करने दूध गाढ़ा हो जाता है जिससे आइसक्रीम, कस्टर्ड आदि घर पर ही बना सकते हैं।
  • Corn Flour आमतौर पर पाउडर चीनी में एक एंटीकैकिंग एजेंट के रूप में शामिल किया जाता है।  
  • बेकिंग के पहले फलों को कोट करने के लिए भी कॉर्नस्टार्च का उपयोग किया जा सकता है जिससे पाई, टार्ट आदि डिजर्ट बना सकते हैं। इसकी पतली परत फलों के रस के साथ मिक्स हो जाती है और फिर इसे बेक करती है।
  • इसे एक एंटी-कैकिंग एजेंट के रूप में भी उपयोग किया जाता है। कटे हुए पनीर को अक्सर कॉर्नस्टार्च के पतले से घोल के साथ लपेटा जाता है जिससे इसे सेंकने पर यह बिखरता नहीं है जिससे पनीर अच्छी तरह सिक जाता है।
  • व्यंजनों के अलावा Corn Flour या Corn Starch का उपयोग बेबी पाउडर में भी किया जाता है। इसके अलावा इसका उपयोग बायोप्लास्टिक्स एवं एयरबैग बनाने में भी होता है।
  • चिकित्सा में भी Corn Starch का उपयोग होता है। दरअसल Corn Flour या Corn Starch प्राकृतिक लेटेक्स से बने मेडिकल उत्पादों जिसमें डायाफ्राम, कंडोम्स और मेडिकल ग्लव्स आदि शामिल है।
  • Corn Flour का उपयोग ग्लाइकोज़न स्टोरेज डिज़ीज़ वाले लोगों के लिए ब्लड शुगर के स्तर को बनाये रखने के लिए भी किया जाता हैं क्योंकि इसमें ग्लूकोज की सप्लाई को सक्षम करने के गुण होते है जिसका उपयोग 6 से 12 महीने की उम्र में शुरू किया जा सकता है जिससे ग्लूकोज के उतार – चढ़ाव को रोका सकता है।

Corn Flour में पाए जाने वाले पोषक तत्व (Nutrition Value in Corn Flour)

Corn Flour की एक बड़ी चम्मच में ही इतने पोषक तत्व पाए जाते है जो आपको दिनभर की कैलोरी की पूर्ति करने के लिए काफी है। Corn Flour में पाए जाने वाले पोषक तत्वों को सूची के रूप में यहाँ प्रदर्शित कर रहे हैं:

क्रम संख्यापोषक तत्वमात्रा
1.एनर्जी44 कैलोरीज
2.प्रोटीन1.1 ग्राम
3.कार्बोहाइड्रेट9.1 ग्राम
4.फैट0.5 ग्राम
5.फाइबर1.2 ग्राम
6.विटामिन बी 1 (थियामाइन)0.17 मिली ग्राम
7.विटामिन बी 2 (राइबोफ्लेविन)0.09 मिली ग्राम
8.विटामिन बी 3 (नियासिन)1.17 मिली ग्राम
9.फोलेट विटामिन बी927.9 मिली ग्राम
10.कैल्शियम16.9 मिली ग्राम
11.आयरन0.86 मिली ग्राम
12.मैग्नीशियम13.2 मिली ग्राम
13.फॉस्फोरस26.7 मिली ग्राम
14.जिंक0.22 मिली ग्राम
15.पोटैशियम35.7 मिली ग्राम
Source : Healthline

Corn Flour या Corn Starch कैसे बनाएं ?

हमारे आर्टिकल Corn Flour in Hindi में अब बताते हैं कॉर्नफ्लोर को घर पर कैसे बनायें। सबसे पहले मक्का के दानों को थोड़े पानी में डालकर 5-6 घंटे के लिए छोड़ दें, फिर उसे छान लें और उसमें थोड़ा सा पानी डालकर अच्छे से पीस लें। इसके बाद उसे किसी बर्तन में छानकर 10 मिनट के छोड़ दें। बाकी बचे हुए उसके कचड़े को किसी अलग बर्तन में निकाल लें। 10 मिनट बाद उसे किसी पतले कपड़े से फिर छान कर उस पानी को 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें।

ये भी पढ़े Khajur Khane Ke Fayde

इसमें से कचरे को निकाल कर अलग रख दें। फिर धीरे-धीरे करके उसका पानी गिरा दें। इसके बाद सूखे कपड़े या टिश्यू पेपर से बचे हुए पानी को निकाल दें, फिर उसे किसी प्लेट में निकालकर सूखने के लिए डाल दें। जब मिश्रण अच्छी तरह सूख जाए तब मिक्सर में डालकर बारीक पाउडर बना लें। पाउडर को बारीक छलनी से छान लें और सूखे डिब्बे में भर दे। आपका Corn Flour बनकर तैयार हो चुका है और अब आप इसका इस्तेमाल रेसिपी के लिए कर सकते हैं।

कॉर्नफ्लोर का स्टोरेज (Storage of Corn flour)

  • Corn Flour या Corn Starch नमी अवशोषित करता है इसलिए Corn Flour को एयर – टाइट कंटेनर में रखना चाहिए।
  • Corn Flour या Corn Starch को ज्यादा गर्म स्थान पर नहीं रखना चाहिए। इसे सील किये हुए कंटेनर में रखकर उस कंटेनर को ठंडी और सूखी जगह पर रखना चाहिए और अगर इसे सही तरीके से स्टोर किया जाए तो यह कई सालों तक चलता है।

ये था हमारा एक ओर जानकारी से भरपूर आर्टिकल Corn Flour in Hindi आशा है हमारी जानकारी से आप संतुष्ट होंगे। यदि आपको हमारी जानकारी में कोई गलती मिले या आप कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कृपया कमेंट सेक्शन में हमें कमेंट जरूर करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.