आज किसानों का भारत बन्द, क्या रहेगा खुला, किसने दिया समर्थन?

0 181

पिछले 12 दिनों के आन्दोलन के बाद आज मंगलवार को किसानों ने भारत बन्द बुलाया है। केन्द्र के कृषि कानूनों पर कई बार हुई बातचीत, बेनतीजा होने के पर ये भारत बन्द बुलाया गया है।

भारत बन्द में किसानों को अब विपक्षी दलों का भी समर्थन मिल चुका है लगभग 18 विपक्षी दल जिसमें कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, एनसीपी, और आम आदमी प्रमुख हैं। ​सपा अखिलेश यादव ने सड़कों पर प्रर्दशन किया वही दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल सोमवार से ही किसानों के बीच आ गए।

किसानों की ओर से, किसान नेता बलबीर सिंह ने प्रेस से बातचीत में बताया कि भारत बन्द सुबह 11 बजे से 3 बजे तक चलेगा। सभी आपातकाली सेवाऐं बन्द के दौरान शुरू रहेंगी और किसी को भी बन्द का हिस्सा बनने के लिए विवश नहीं किया जाएगा। राजनीतिक दल हमारे मंच पर नहीं होंगे।

जहां कृषि कानूनों से असंतुष्ट किसानों द्वारा भारत बन्द का आह्वान किया गया है वहीं कल शाम हरियाणा के किसानों का एक समूह, कृषि मंत्री नरेंन्द्र सिंह तोमर से मिला और कृषि कानूनों का समर्थन किया।

मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल सहित आम आदमी पार्टी के मंत्री किसानों के समर्थन में सोमवार से धरना दे रहे हैं। केजरीवाल ने कहा कि केन्द्र स​रकार ने हमसे, स्टेडियम को अस्थाई जेल बनाने के लिए कहा था परन्तु हमने इसे मानने से इंकार कर दिया।

किसे मिलेगी छूट, क्या होगा बन्द

दिल्ली में आवाजाही बन्द करने के लिए टैक्सी और कैब ड्राईवर बन्द में शामिल। ट्रांसपोर्ट सेवाऐं भी बन्द रहेंगी जिसके कारण मंडियों में फल सब्जियों की आपूर्ति प्रभावित होगी। दूध की आपूर्ति पर भी प्रभाव पड़ेगा। इंटर स्टेट रोड़वेज बसें भी नहीं चलेंगी, या​त्री सेवाऐं बाधित होंगी।

बाजारों के खुलने की छूट

व्यापारी संगठन “कैट” ने सभी जगह बाज़ार खुले रहने की घोषणा की है। आटो यूनियन ने किसानों के भारत बन्द को समर्थन दिया है लेकिन सेवाऐं शुरू रहेंगी। आल इंडिया ट्रांसपोर्ट वेलफेयर एसोसिएशन की परिवहन सेवा सामान्य रहेगी।

आपातकालीन सेवाओं को छूट

आपातकालीन सेवाओं में लगे वाहन जैसे दमकल विभाग की गाड़ियां, ऐम्बुलेंस की आवाजाही जारी रहेगी। दवाओं की दुकानों को भी छूट दी गई है। शादी समारोह में आने जाने लोगों को कोई मनाही नहीं।

केन्द्र की राज्य सरकारों से शांति व्यवस्था की अपील

केन्द्र सरकार ने राज्य सरकारों को कुछ दिशा निर्देश दिए हैं पहला कि बन्द के समय सुरक्षा चाक चौबन्द हो ताकि शांति बनी रहे। दूसरा कोरोना के मद्देनज़र सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो और ​तीसरा, किसी भी आपात स्थिति से सख्ती से निपटे।

भारत बन्द को किस किस का समर्थन

कांग्रेस, वामदल, एनसीपी, शिवसेना, आकाली दल, समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय जनता दल, आमआदमी पार्टी सहित 18 से अधिक दलों का बन्द को समर्थन। इसके साथ ही रेल कर्मचारियों के संगठन, व्यापारियों की कुछ संस्थाऐं, वकीलों कुछ संगठन, मंडियों की कुछ समितियां और खाप पंचायतों का समर्थन।

पुलिस की चेतावनी

भारत बन्द को लेकर दिल्ली और यूपी पुलिस ने कहा है कि बन्द के दौरान जबदस्ती दुकाने बन्द कराई गई या आवाजाही रोकी गई तो सख्त कार्यवाही होगी। शांति बनाए रखने के लिए हिंसक तत्वों से सख्ती से निपटा जाऐगा।

दिल्ली एनसीआर के बार्डर बन्द

दिल्ली एनसीआर के सभी बार्डर, सिंघु बॉर्डर, टिकरी, गाजीपुर, लामपुर, झरोदा, चिल्ला बॉर्डर व अन्य रास्तों पर किसानों की भारी भीड़। रास्ते बन्द।

सुरक्षा व्यवस्था कड़ी

भारत बन्द की स्थिति को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने पहले से तैनात जवानों के अलावा 100 अतिरिक्त टीमें बनाई जिनकी एसीपी स्तर के अफसर टीमों की अगुवाई करेंगें।

एयर ​इंडिया से यात्रा करने वालों को कुछ रियायत मिली है जैसे कि यदि कोई व्यक्ति भारत बन्द के चलते एयरपोर्ट समय से नहीं पहुंच पाता है तो उसे ‘No Show’ का चार्ज नहीं देना पड़ेगा। ​कन्फर्म टिकट होन पर सेवा का लाभ उठाने में असमर्थ लोग किसी ओर दिन भी सफर कर सकेंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.