Khatmal Marne Ki Dawa | इन अचूक घरेलू उपायों से खटमल रहेंगें हमेशा दूर

0

आज हम अपने इस आर्टिकल में आपको बताने जा रहे हैं Khatmal Marne Ki Dawa के बारे में लेकिन इससे पहले हम जान लेते हैं कि Khatmal क्या होते हैं और खटमल क्या खाते हैं?

खटमल को इंगलिश में Bed Bugs कहते हैं जो हमारे बिस्तर और गद्दों में पैदा होते हैं। ये रंग में लाल-भूरे और आकार में चपटे होते हैं और खटमल के 6 पैर होते हैं। खटमल इंसानी खून पीकर जिंदा रहते हैं और एक मादा खटमल अपने पूरे जीवनकाल में 200 से 400 अण्डे देती है। वयस्क खटमल 1/4 से 3/8 इंच लम्बे होते हैं और इनका आकार चपटा और अण्डाकार होता है। वहीं छोटे खटमल (निम्फ) आकार में छोटे और रंग में हल्के होते हैं।

Sponsored Ad

Content: Khatmal Marne Ki Dawa

Khatmal Marne Ki Dawa (खटमल मारने की दवा)

वैस तो बाज़ार में खटमल मारने की कई दवाऐं मौजूद हैं फिर भी हम आपको एक बढ़िया दवा बता रहे हैं जो खटमल ही नहीं ​बल्कि अन्य कीड़े मकौड़े से भी आपको छुटकारा दिला सकती है और वो है खटनिल। ये दवा आसानी से किसी भी मेडिकल स्टोर पर उपलब्ध है।

इसके अलावा हम आपको वो सारे घरेलू उपाय भी बताऐंगे जिन्हे अपना कर आप खटमल की समस्या से हमेशा हमेशा के लिए छुटकारा पा सकते हैं। आप खटनिल को इंटरनेट पर भी आर्डर कर सकते हैं आर्डर करने के लिए आप यहा क्लिक करें।

Sponsored Ad

Sponsored Ad

खटमल क्या होता है (What is Bed Bugs)

जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया कि खटमल परजीवी प्राणी होते हैं जो हमारे बिस्तर के अलावा, कुर्सियों, सोफों, तकियों और पर्दों में भी छिपे हो सकते हैं जो हर 5 से 10 दिन में खून पीने के लिए बाहर निकलते हैं। खटमल बिना कुछ खाये भी एक वर्ष से ज्यादा समय तक जीवित रह सकते हैं। खटमल के काटने पर कुछ खास प्रभाव नहीं पड़ता या कोई बीमारी नहीं फैलती है लेकिन इनके काटने वाली जगह पर छोटे निशान पड़ सकते हैं या खुजली हो सकती है।

खटमल क्यों होते हैं घर में?

खटमल गन्दगी में पैदा होते हैं। कई दिनों तक अगर बिस्तर को धूप नहीं दिखाई जाती तो भी बिस्तर में खटमल पैदा हो सकते हैं, इसके अलावा सीलन और गन्दगी में भी ये पैदा हो जाते हैं। खटमल पैदा न हो, इसके लिए बिस्तर को समय-समय पर धूप दिखाना जरुरी है।

खटमल काटने से कौन सी बीमारी होती है

वैसे तो खटमल के काटने से काई गंभीर बिमारी नहीं होती फिर भी इनके काटने से त्वचा सम्बधी रोग हो सकते हैं जिन्हे हमने विस्तार से नीचे बताया है:

खटमल के काटने से हो सकती है एलर्जी

खटमल के काटने पर हर व्यक्ति में अलग-अलग लक्षण दिखाई देते हैं। इससे कई लोगों की त्वचा में जलन और लालीमा आ सकती है या कोई एलर्जी भी हो सकती है।

खटमल के काटने से हो सकती है खुजली

Sponsored Ad

खटमल के काटने पर कई लोगों के शरीर में तेज खुजली भी हो सकती है जिससे किसी प्रकार का कोई इन्फेक्शन नहीं होता लेकिन खुजली के कारण शरीर में घाव बन सकते हैं जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है।

खटमल के कारण अनिद्रा

बिस्तर में खटमल पैदा होने से वे आपके शरीर पर चलते हैं और खटमल के काटने से कई बार हम इतना परेशान हो जाते हैं कि सो नहीं पाते जिससे आपकी कार्यशैली पर काफी असर पड़ता है

खटमल के कारण चगास रोग

कई लोगों को खटमल के काटने से चगास रोग भी हो सकता है।

खटमलों से हो सकती है PTSD

जिन लोगों को खटमल ने काटा उनमें से ज्यादातर लोगों में मेंटल डिसॉडर की बात भी कही गई है। कुछ लोगों में PTSD यानी पोस्ट ट्रॉमैटिक डिसॉडर के लक्षण भी दिखाई दे चुके हैं।

खटमल के काटने के लक्षण (Sign of Bed Bugs Bite)

अब हम आपको बताएंगे कि खटमल के काटने के निशान को कैसे समझें कि खटमल ने काटा है क्योंकि ऐसा ही निशान मच्छर या किसी और कीड़े के काटने से भी बन सकता है जिस कारण शरीर पर इसके काटने के निशान का पता लगाना मुश्किल होता है। तो आइये जानते हैं कि खटमल के काटने का निशान कैसे पता कर सकते हैं?

खटमल के काटने पर ज्यादा सूजन

आप अपने ऊपर मच्छर की बाइट की तरह दिखने वाले रैश को देखकर खटमल के संक्रमण की पहचान कर सकते हैं। त्वचा पर मच्छर के काटने की तुलना में खटमल के काटने पर प्रभावित जगह पर ज्यादा सूजन हो जाती है।

शरीर से बदबू आना

अगर इंफेक्शन बहुत अधिक है तो हो सकता है कि आपके शरीर से बदबू भी आए जो कि आमतौर पर किसी मच्छर के काटने पर नहीं होता है।

बिस्तर पर लाल धब्बे दिखना

आपके बिस्तर पर लाल रंग के धब्बे नजर आते हैं जो कि खटमल के कुचलने के कारण बनते हैं।

Sponsored Ad

गहरे रंग का छोटा धब्बा

गहरे रंग का छोटा धब्बा जो खटमल का मल होता है और दबाने पर रंग छोड़ता है। यह इनकी उपस्थिति दर्शाता है।

खटमल के अण्डे

खटमल के अण्डे जो मटमैले सफेद रंग के चावल जैसे दिखाई दें या अण्डे के खोल दिखाई दे तो समझ लेना चाहिए कि आपको बिस्तर में खटमल मौजूद है। सुबह सोकर उठने के बाद अगर आपको खुजली हो या फिर रैशेज नजर आएं तो हो सकता है कि आपके बिस्तर में खटमल हों।

खटमल कैसे खत्म करें (Prevention Tips from Bed Bugs)

अब हम आपको बताने जा रहे हैं कि कैसे आसानी से आप खटमल से निजात पा सकते हैं तो आइये जानते हैं वो उपाय और नियम जिनको करके आप खटमल से आसानी से छुटकारा पा जाएंगे।

  • अगर आपके फर्नीचर में कहीं दरार है तो आपको उसे तुरन्त ठीक करवा लेना चाहिए क्योंकि उसमें खटमल के होने के चासेंज ज्यादा होते हैं।
  • अगर आप कोई पुराना या सेकेंड हैंड फर्नीचर घर ला रहे हैं तो सबसे पहले उसमें खटमल के किसी भी संकेत की जांच कर लें तभी लाएं।
  • अगर आपको लगे कि आपके बिस्तर खटमल हैं तो अपने बिस्तर में नीम की पत्तियों को गद्दे पर बिछाएं या नीम की पत्तियों को पानी में उबालकर उस पानी का छिड़काव अपने बिस्तर पर करें। नीम के पत्ते एक बेहतरीन Khatmal Marne Ki Dawa है।
  • अपने घर में सफाई बना कर रखें ताकि खटमल के पास छिपने के लिए कम स्थान उपलब्ध हो।
  • किसी यात्रा से लौटने के बाद तुरंत अपने कपड़ों को वाशिंग मशीन में डालें और अपने सामानों की ध्यानपूर्वक जांच करें और जब भी किसी होटलों में रुकें अपना सूटकेस फर्श पर रखने के बजाय सामान के रैक पर रखें। और गद्दों और हेडबोर्ड की जांच ज़रूर करें।
  • चादरों और कपड़ों को हाई टेम्प्रेचर पर धोएं और आवश्यकतानुसार कीटनाशक का प्रयोग करें।
  • जब भी कोई नया मैट्रेस खरीदें उसके साथ आई प्लास्टिक कवरिंग को लगे रहने दें। अपनी मैट्रेस और बॉक्स स्प्रिंग के लिए स्पेशल बेडबग कवर्स खरीदें और उसकी अच्छी क्वालिटी की जाँच कर लें
  • अपने गद्दों और चादरों को समय-समय पर साफ करते रहें और धूप दिखाते रहें। उनमें नमी (सीलन) न रहे।
  • सुरक्षात्मक कवर का प्रयोग करें
  • वैक्यूम क्लीनर से गद्दों की सफाई करें
  • अगर आपको शक है कि आपके बिस्तर में खटमल है तो एक कॉटन के टुकड़े को एल्कोहल में डूबाकर अपने गद्दों पर रगड़ें।
  • हफ़्ते में कम से कम दो बार बेड कवर और पिलो कवर जरूर बदलें और अगर आपको बालों से जुड़ी कोई समस्या है तो हफ़्ते में कम से कम तीन बार तकिये का कवर बदलना चाहिए, वरना आपकी समस्या और बढ़ सकती है। वहीं अगर कोई और आपके साथ बेड शेयर करता है तो उसे भी ये संक्रमण होने का खतरा बढ़ सकता है।
  • मौसम के अनुसार अपने बेड कवर का चुनाव करें, गर्मियों में कॉटन का बेड कवर इस्तेमाल करें तो वहीं सर्दियों में सिल्क या मोटे कपड़े के बेड कवर का इस्तेमाल करना अच्छा रहता है। हालांकि सिल्क या फिर कोई भी मोटा फैब्रिक अधिक गंदा होता है क्योंकि इसमें धूल बैठती है और इन्हें धोना भी मुश्किल होता है।
  • रोज उठने के साथ ही बेड कवर को अच्छे से झाड़ दें ताकि उसमें जमा सारी धूल और दूसरी गंदगी साफ हो जाए। उसके बाद उसे अच्छे तरीके से बिस्तर पर बिछा लीजिए। पिलो कवर को भी रोज़ इसी तरह साफ करें।
  • महीने में एक बार गद्दों को धूप जरूर दिखाएँ इससे गद्दों में कीड़े नहीं लगेंगे और किसी भी प्रकार की गंध भी नहीं आएगी।
  • कई लोग बिस्तर पर बैठकर ही खाना खाते हैं जो कि गलत आदत है। बिस्तर पर खाना खाने से एक ओर जहां कवर के गंदा होने की आशंका बढ़ती है वहीं सेहत के लिहाज से भी ये सही नहीं है।
  • अगर आपके किसी फर्नीचर में बहुत ज्यादा खटमल हो गए हैं और किसी भी तरीके से नहीं जा रहे हैं तो बेहतर यही होगा कि आप उस फर्नीचर को घर से बाहर निकाल दें। उस फर्नीचर को प्लास्टिक से अच्छी तरह कवर करके भी बाहर कर सकते हैं।
  • खटमल पलंग के किनारों और दीवारों की दरारों में छिपकर ज्यादा रहते हैं और रात को पूरी तरह से सक्रिय हो जाते हैं। ऐसे में इन दरारों को प्लास्टर करवा दें, ताकि ये बाहर न आ सकें।
  • अगर आपको खटमल के अंडे या उनके निशान दिखाई दें, तो गर्म पानी से उस जगह को साफ करें।
  • गद्दे के नीचे ड्रायर शीट बिछाने से भी खटमल भागते हैं। इन शीट्स में ऐसी गंध होती है जिससे ये दूर भागते हैं। इन शीट्स को कुशन के अंदर व कार्पेट के नीचे भी रख सकते हैं।

खटमल भगाने के घरेलू उपाय (Home Remedies for Bed Bugs)

अब हम आपको बताने जा रहे हैं खटमल को भगाने के लिए कुछ घरेलू उपाय जिनकी मदद से आप खटमलों से छुटकारा पा सकते हैं तो आइये जानते हैं वो उपाय:

नीम की पत्तियों से खटमलों से छुटकारा

नीम की पत्तियां में एंटी माइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं इसलिए इसका इस्तेमाल कीड़ों को दूर रखने के लिए किया जाता है। खटमल से छुटकारा पाने के लिए नीम की पत्तियों को खटमल के छुपने की जगह के आस-पास रखें। इसकी गंध से खटमल मर जाते हैं। नीम की पत्तियां बहुत ही शानदार Khatmal Marne Ki Dawa है।

बेकिंग सोडा से खटमल मर जाते हैं

खटमल को मारने के लिए बेकिंग सोडा काफी मददगार माना जाता है ये खटमल को सुखा कर मार देता है। जहां भी आपको खटमल के छुपे होने की सम्भावना लगे उस जगह के आस-पास बेकिंग सोडा छिड़क दें और उसे एक सप्ताह के लिए छोड़ दें फिर अच्छे से सफाई कर दें। इस प्रक्रिया को 3-4 सप्ताह तक दोहराएं। ऐसा करने से खटमल से मुक्ति मिलती है।

पुदीना की सुगंध से खटमल भगाना

पुदीने की गंध को खटमल सहन नहीं कर पाते हैं इसलिए खटमल से छुटकारा पाने के लिए पुदीने की पत्तियों को अपने बिस्तर के पास रख दें और 3-4 दिन बाद उनको हटाकर नई पत्तियां रख दें। इस तरह कुछ दिनों तक करने से खटमल खत्म हो जाते हैं।

Sponsored Ad

नीलगिरी के तेल से खटमल समाप्त

घर में जहां भी आपको खटमल दिखाई देते हों वहां पर नीलगिरी के तेल की कुछ बूँद पानी में मिलाकर स्प्रे कर दें। कुछ दिनों तक नियमित इसे करने से खटमल से छुटकारा मिल जायेगा। नीलगिरि का तेल भी Khatmal Marne Ki Dawa है।

टी ट्री ऑयल देता है खटमल से मुक्ति

टी ट्री ऑयल एंटी बायोटिक, एंटीफंगल, एंटीसेप्टिक और एंटी वायरल गुण से युक्त होता है। यह खटमल के साथ साथ ओर भी कई तरह के कीड़े मकोड़े को मारने में भी कारगर होता है। इसके लिए इसे गुनगुने पानी में मिलाकर अपने पूरे घर में स्प्रे करें। इसे सप्ताह में 2 बार कुछ समय तक नियमित रूप से करने पर आपको खटमल से छुटकारा मिल सकता है।

लौंग तेल से खटमल खत्म

लौंग का तेल भी खटमल की परेशानी से भी मुक्ति दिलाता है। गुनगुने पानी में लौंग का तेल मिलाकर स्प्रे करने से खटमल खत्म होता है।

मिट्टी का तेल

जहां भी खटमल दिखाई देते हों उन जगहों पर मिट्टी का तेल (केरोसीन) का छिड़काव करें। ऐसा करने से सारे खटमल बाहर आ जाएंगे जिसके बाद आप उन्हें आसानी से मार सकते हैं। ध्यान रहे इस समय किसी भी ज्वलशील वस्तु यहां से दूर रखें।

पिपरमेंट के तेल से मरते हैं खटमल

पिपरमेंट का तेल मच्छर कीट पतंगों आदि को दूर करता है। इसे पानी में मिलाकर स्प्रे करने से कीड़े मकोड़े नष्ट हो सकते हैं। नियमित कुछ समय तक इस स्प्रे को इस्तेमाल करने से खटमल समाप्त हो सकते हैं।

लैवेंडर से खटमल होते हैं बेहोश

लैवेंडर की महक से खटमल बेहोश हो जाते हैं और कुछ देर बाद मर जाते हैं। इसके लिए लैवेंडर को पानी में मिला लें और फिर जहां भी खटमल हो, स्प्रे करें। कुछ समय में खटमल घर से खत्म हो जाएंगे।

ब्लैक वालनट टी से भागते हैं कीड़े मकौड़े

ब्लैक वालनट टी इंसेक्ट को भगाने का काम करता है। ब्लैक वालनेट टी बैग को बेडरूम और घर के कोनों में रख दें। इसकी महक खटमल को पसंद नहीं होती है जिससे खटमल भाग जाएंगे। ऐसा सप्ताह में दो बार करें। ये उपाय खटमल को भगाने का बेहतर तरीका है।

कपूर से दूर भागते हैं खटमल

Sponsored Ad

जी हां कपूर भी खटमलों को भगाने का काम करता है इसके लिए अपने बिस्तर को धोयें और धूप में खुखाने के बाद बिछाऐं और इसमें कपूर के कुछ बड़े टुकड़े रख दें। कपूर से न केवल खटमल बल्कि मच्छर भी दूर भागते हैं। कपूर भी एक तरह की Khatmal Marne Ki Dawa है।

बीन की पत्तियां

बीन की पत्तियां नैचुरल फ्लाईपेपर की तरह काम करती हैं जिसमें कीड़े आसानी से फंस जाते हैं। पत्तियों में सूक्ष्म क्रिस्टल, खटमल के अंगों को उलझाने का काम करेगा। खटमल से छुटकारा पाने के लिए इसे कमरे के फर्श के साथ ही बेड के नीचे भी बिछा लें इससे खटमल आसानी से पत्तियों में फंस जाएंगे। जिससे आप खटमल की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

अजवाइन के फूल

अजवाइन के फूल का इस्तेमाल भी खटमल भगाने के लिए किया जाता है। इसके फूल और स्टिक के धुएं से खटमल भागते हैं क्योंकि उन्हें इसकी महक पसंद नहीं होती है लेकिन इस उपाय को करते वक्त बहुत ध्यान रखने की जरूरत है।

ये भी पढ़ें: Machar Bhagane Ka Tarika – इन 10 आसान घरेलू उपाय से बच नहीं सकेंगे मच्छर

जब भी आप अजवाइन के फूल और स्टिक को जलाएं उस वक्त घर की खिड़किया थोड़ी सी खोल दें, इससे सांस लेने में दिक्कत हो सकती है। इस उपाय को सप्ताह में दो से तीन बार करें कुछ ही समय में आपको असर दिखाई देने लगेगा।

लेमन ग्रास से दूर भागते हैं खटमल

लेमन ग्रास का यूज़ खटमल भगाने के लिए किया जा सकता है। इसमें पाए जाने वाले एसिड लेवल के कारण खटमल आसानी से मर जाते हैं इसके लिए लेमन ग्रास को घर के प्रभावित स्थान में रख दें। इससे खटमल न सिर्फ भागते हैं बल्कि मर भी जाते हैं। वहीं लेमन ग्रास की महक के कारण खटमल के एग्स भी डिस्ट्रॉय हो जाते हैं।

इंडियन लिलाक से खटमल से मिलेगा छुटकारा

इंडियन लिलाक हर्बल प्लांट होता है। इसकी पत्तियों का इस्तेमाल करने से आपको खटमल से छुटकारा मिल सकता है। इसकी पत्तियों को क्रश करके फैला दें और फिर पानी में उबालने के बाद नहाने के पानी में इसे मिला दें इससे खटमल आपको नहीं काटेगा। इसके अलावा इस पानी का छिड़काव कपड़े, सोफे और अन्य जगहों में भी स्प्रे के रूप में कर सकते हैं।

एल्कोहॉल से मरते हैं खटमल

एल्कोहल को घर में खटमल के खात्मे के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए एल्कोहॉल को एक स्प्रे बोतल में भरें और फिर स्प्रे की हेल्प से प्रभावित स्थान पर छिड़काव करें। एल्कोहॉल के छिड़काव से खटमल मर जाएंगे।

हेयर ड्रायर का इस्तेमाल

अगर आपके पास हेयर ड्रायर है, तो उसका इस्तेमाल भी खटमल को मारने के लिए किया जा सकता है क्योंकि खटमल हीट से दूर भागते हैं और हीट ज्यादा होने पर मर भी जाते हैं। बेड के आसपास के एरिया में हेयर ड्रायर का इस्तेमाल करें। खटमल मारने के लिए ये बहुत ही सरल और तुरंत राहत देने वाला उपाय है। एक बार इसे भी ट्राई करके देखें।

Sponsored Ad

खटमल से जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां

अब हम आपको खटमलों से जुड़ी कुछ अन्य जारकारियां दे रहे हैं जिनकी मदद से आप खटमलों से हमेशा हमेशा के लिए छुटकार पर सकते हैं।

  • ऊपर दिए गए उपाय खटमल को मारने और भगाने के कारगर उपाय हैं. लेकिन इन सभी उपायों बाद भी अगर खटमल की समस्या दूर नहीं हो रही हैं तो खटमल से संक्रमित वस्तु को घर से निकाल दें।
  • अगर आपके घर में दीमक है और उसके बाद खटमल आए हैं तो खटमल को ख़त्म करना बहुत मुश्किल है क्योंकि दीमक लकड़ियों को खोखला कर देते हैं जिसमें खटमल पैदा होने लगते हैं और लकड़ियों की गहराई में होने के कारण इन पर दवाओं और उपायों का असर भी नहीं होता है। Khatmal Marne Ki Dawa दीमक लगी लकड़ी पर बेअर हो जाती है।
  • खटमल अपने वजन से तीन गुना ज्यादा खून पी सकते हैं और एक हफ्ते से ज्यादा समय तक ये बिना खाए रह सकते हैं।
  • खटमलों का जीवन एक साल तक हो सकता है इसलिए इनको जल्द से जल्द घर से खत्म होना जरुरी है।
  • ये ठंडी और नमी वाली जगहों पर रहते हैं और अधिक गर्मी होने पर मरने लगते हैं इसीलिए खटमलों से प्रभावित चीज़ों को धूप में हफ्ते भर तक रहने दे।
  • खटमल कभी भी दिन में नहीं निकलते हैं। रात को जब हम लाइट बंद करके सोते हैं तब यह अपने गुप्त ठिकानों में से निकलते हैं और हमको काटते हैं। खटमलों के पास कुछ इस तरह के सेंस होते हैं जिससे वह हमारी शरीर की गर्मी का पता लगाकर हमें अँधेरे में भी आसानी से ढूँढ लेते हैं।
  • खटमल के डंख में एनेस्थीसिया की कुछ मात्रा होती हैं जिसके कारण काटते समय हमें पता नहीं चलता हैं। काटने के कुछ समय बाद शरीर में तीव्र जलन होती हैं।
  • खटमल छोटा लेकिन खतरनाक जीव है। यह जहां पर काटते हैं उस जगह खुजली, लाल चकते, फफोले या इन्फेक्शन होने का खतरा हमेशा रहता है।

खटमल का घर में होना शुभ है या अशुभ?

अभी तक हमने आपको कई Khatmal Marne Ki Dawa के बारे में बताया और अब बात करते हैं इसके शुभ या अशुभ होने की। हिंदू धर्म में शुभ-अशुभ संकेतों को खासा महत्व दिया जाता है। हिंदू वास्तुशास्त्र के अनुसार कुछ ऐसे संकेत होते हैं जिनका होना हम अशुभ मानते हैं और इससे हमें आने वाली विपत्तियों के बारे में पूर्व आभास हो जाता है. तो आइये जानते हैं कि खटमल का घर में होना शुभ संकेत होता है या फिर अशुभ।

ये भी पढ़ें: Machar Bhagane Ka Tarika – इन 10 आसान घरेलू उपाय से बच नहीं सकेंगे मच्छर

घर में खटमल का होना एक अशुभ संकेत है। यदि आपके घर में बहुत खटमल पैदा हो रहे हैं तो इसका संकेत है कि आपके घर में कोई विपत्ति आने वाली है और यह आपका बुरा समय दर्शाता है।

इसके अलावा आपके घर में खटमल का होना कई तरह बीमारियों के आगमन का भी संकेत माना जाता है और घर में खटमल का होना घर के मुखिया को असहनीय पीड़ा होने का भी संकेत देता है। खटमल का घर में प्रवेश होना घर की दरिद्रता के बढ़ने की ओर इशारा करता है और ये घर से सुख समृद्धि को नष्ट करते जाते हैं। इस सभी पेरशानियों से कैसे बचें आईए जानते हैं।

  • इनसे बचने के लिए घर की साफ सफाई पर और भी ज्यादा देना शुरू कर दें।
  • कोशिश करें कि घर में खिड़की और दरवाजों से धूप ज्यादा मात्रा में प्रवेश हो सके ताकि खटमल व नकारात्मक ऊर्जा से आपको मुक्ति मिल सके।
  • घर को कैमिकल से सैनिटाइज करें जिससे घर स्वच्छ और साफ सुथरा रहे।
  • सुबह शाम घर में फिटकरी या नमक डालकर पोंछा लगाएं।

तो दोस्तों ये था हमारा एक ओर जानकारी से भरपूर आर्टिकल Khatmal Marne Ki Dawa उम्मीद है आपको पसंद आया होगा। यदि आप हमारे द्वारा बताई किसी जानकारी से सहमत नहीं हैं तो कृपया हमें कमेंट अवश्य करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.