Dussehra 2022: दशहरे पर सबसे बड़ा रावण का पुतला बनाने की होड़, बराड़ा में होगा सबसे उंचे पुतले का दहन

0

नई दिल्ली, बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में मनाया जाने वाला पर्व दशहरा (विजयदशमी) बुधवार, 5 अक्टूबर को मनाया जाऐगा। धर्म की अधर्म पर जीत के इस शुभअवसर पर रावण का पुतला दहन की परंम्परा कई सौ सालों से चली आ रही है। लोगों में दशहरे (Dussehra 2022) के दिन पुतला दहन का एक अलग ही रोमांच बना रहता है और इसीलिए देशभर की रामलीला कमेटियां इस दिन बड़े से बड़ा (World Tallest Ravana) पुतला लगाने की होड़ में रहती हैं।

बराड़ा ने बनाया विश्व रिकॉर्ड (Dussehra 2022)

Sponsored Ad

अंबाला शहर के बराड़ा में हर वर्ष विश्व का सबसे उंचा रावण (World Tallest Ravana) का पुतला बनाया जाता है जिसकी उंचाई 210 फीट रहती है। 2011 में दुनिया का सबसे उंचा, रावण का पुतला बनाने का ‘गिनिज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड्स’ (Guinness World Records) भी बराड़ा के तेजिंदर राणा के नाम पर है। इसके अलावा ये रिकॉर्ड ‘लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड’ में 5 बार दर्ज किया जा चुका है। सबसे उंचे रावण को लेकर भारत में भी कई रिकॉर्ड दर्ज हैं।

इस वर्ष दशहरा 2022 (Dussehra 2022) के अवसर पर भी सबसे उंचा रावण का पुतला (World Tallest Ravana) बराड़ा में ही लगाया जा रहा है लेकिन इस साल पुतले की उंचाई 210 की जगह 125 फीट रखी गई है। बराड़ा रामलीला मैदान में जगह की कमी के कारण इस वर्ष 210 फीट का पुतला नहीं बनाया गया है। बराड़ा रामलीला कमेटी के संस्थापक तेजिंदर राणा ने इस काम के लिए अपनी जमीन भी बेच दी थी। उन्होने सरकार से आग्रह किया है कि यहां दशहरे के उत्सव के लिए जमीन उपलब्ध कराऐ ताकि उंचे पुतला दहन की परम्परा बरकरार रहे।

2019 में चंडीगढ़ में बना दुनिया का सबसे उंचा रावण

बराड़ा के बाद, 2019 में चंडीगढ़ में भी विश्व का सबसे उंचा रावण का पुतला (World Tallest Ravana) बनाया गया था जिसे ‘लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड’ में दर्ज किया गया था। इस पुतले का निर्माण भी बराड़ा के तेजिंदर राणा और उनके साथियों के द्वारा किया गया। इस रावण के पुलते की लंबाई बराड़ा के रावण से भी कहीं ज्यादा थी। चंडीगढ़ में 221 फीट उंचा रावण बनाया गया था जिसको खड़ा करने में 150 लोग, 2 क्रेन और 1 जेसीबी मशीन का प्रयोग करना पड़ा था।

Sponsored Ad

Sponsored Ad

221 फीट उंचा रावण चंडीगढ़ की धनास कालोनी परेड ग्राउंड में लगाया गया जिसे शिव पार्वती सेवा दल की मदद से तैयार किया था। इस पुतले का वज़न लगभग 70 क्विंटल रहा और इसके आसपास 500 फीट की बाउंड्री तैयार की गई। इस रावण को बनाने में 20 लाख रूपये का खर्च आया।

gadget uncle desktop ad

रांची में होगा 70 फीट उंचा रावण का पुतला

रावण के सबसे उंचे पुतलों की लिस्ट में रांची का भी नाम आता है। इस वर्ष मोराबादी रामलीला मैदान में 70 फीट का पुतला लगाया जा रहा है। इसी मैदान पर कुंभकरण के पुतले की उंचाई 65 फीट और मेघनाद के पुतले की उंचाई 60 फीट होने वाली है। रामलीला के मंचन से लगभग 1 महीना पहले ही कई कारीगर पुतला बनाने के काम जुट जाते हैं। विजयदशमी के दिन मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, तीनों पुलतों को अग्नि देंगे।

झारखंड के सिंदरी में 65 फीट का पुतला

धनबाद जिले की सिंदरी रामलीला मैदान में, रावण का 65 फीट उंचा पुतला लगाया जा रहा है। यहां रामलीला का मंचन बहुत ही भव्य तरीके से किया जाता है और विजयदशमी के दिन भगवान श्री राम का किरदार निभाने वाले ही तीनों पुतलों का दहन करेंगे।

मधुपुर में पुतले की उंचाई 60 फीट

देवघर के मधुपुर में पिछले कई सालों से रामलीला का भव्य मंचन किया जाता रहा है और इस वर्ष 2022 में भी यहां दशहरे के दिन रावण, कुंभकरण और मेधनाद का पुतला जलाया जाऐगा। इस वर्ष यहा 60 फीट का रावण का पुतला लगाया जाऐगा। इस प्रकार देशभर में उंचे-उंचे रावण के पुतले (World Tallest Ravana) लगाने की होड़ रहती है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

x