नासिक के अस्पताल में ऑक्सीजन लीक होने से 22 मरीजों की मौत, अमित शाह ने जताया दुख

0 55

एक तरफ देश में कोरोना से हाहाकर मचा हुआ है. ऑक्सीजन की कमी के चलते लोगों की जानें जा रही हैं इसी बीच महाराष्ट्र के नासिक में बड़ा हादसा हो गया है. नासिक के अस्पताल में ऑक्सीजन सिलेंडर लीक होने के कारण 22 लोगों की मौत हो गई है. जिसको लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया है और दुख जताया है.

गृह मंत्री ने ट्वीट कर लिखा है कि ”नासिक के एक अस्पताल में ऑक्सिजन लीक होने से हुई दुर्घटना का समाचार सुन व्यथित हूँ। इस हादसे में जिन लोगों ने अपनों को खोया है उनकी इस अपूरणीय क्षति पर अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त करता हूँ। बाकी सभी मरीजों की कुशलता के लिए ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ।“

22 मरीज़ों की मौत

आपको बता दें ये घटना नासिक के डॉक्टर जाकिर हुसैन अस्पताल की है जहां ऑक्सीजन टैंक लीक हो गया. हादसे में 22 मरीजों की मौत और 12 लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है. रिपोर्ट्स के मुताबिक टैंकर भरने के दौरान रिसाव हुआ जिसके बाद ऑक्सीजन गैस पूरे अस्पताल में फैल गई. वहीं हादसे के बाद अब मामले के जांच के आदेश दे दिए गए है.

सोशल मिडिया पर ये इस खबर से जुड़ा विडियो वायरल हो गया है। ट्वीटर यूज़र जम कर इस विडियो को अपने अपने एकाउंट से शेयर कर रहे हैं।

जांच के आदेश

महाराष्ट्र सरकार में FDA मंत्री राजेंद्र शिंगणे ने कहा कि ”हम घटना की जांच करेंगे और आगे ऐसी घटना न हो इसके लिए काम करेंगे. यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. हमने जांच के आदेश दे दिए हैं और इसके लिए जो भी जिम्मेदार होगा उसे छोड़ा नहीं जाएगा”

गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस के चलते त्राहिमाम मचा हुआ. राज्यों में ऑक्सीजन की कमी के खबरें आ रहीं हैं लोग सड़कों पर दम तोड़ रहे हैं. अस्पतालों में बेड नहीं मिल रहें हैं कई राज्यों में रेमडेसिवीर की भी कमी बताई जा रही है. कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए राज्य सरकारों ने सख्ती दिखाते हुए नाइट कर्फ्यू, लॉकडाउन जैसे फैसले लिए हैं. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने राजधानी में 26 अप्रैल तक लॉकडाउन लगाया है. वहीं उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में हफ्ते में दो दिन शनिवार और रविवार के दिन लॉकडाउन का आदेश दिया है.

आपको बता दें देश में 24 घंटे में कोरोना के 2 लाख 95 हजार नए मामले आए हैं वहीं 2 हजार 23 लोगों की कोरोना से मौत हुई है. कोरोना के नए मामले और मौतों के मामले में ये अब तक के रिकॉर्ड मामले हैं. औऱ अगर हालात ऐसे रहे तो ये आंकड़े औऱ भी तेजी से बढ़ सकते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.