केवल 15 वर्ष की आयु में दिव्या देशमुख बनीं भारत की 21st महिला चैस ग्रेंडमास्टर

0 167

21st Women Grand Master of India : नागपुर की दिव्या देशमुख (Divya Deshmukh) केवल 15 वर्ष की आयु में ही भारत की 21वीं महिला चैस ग्रेंडमास्टर (WGM) बन गईं हैं। बुधवार को हंगरी के बूडापेस्ट में दिव्या देशमुख पहले शनिवार ग्रैंड मास्टर में अपना दूसरा अंतरराष्ट्रीय मास्टर (IM) हासिल करने के बाद महिला ग्रैंड मास्टर बनीं।

21st Women Grand Master of India

दिव्या ने 9 राउंड में 5 प्वाइंट बनाये ओर 2452 परफॉर्मेंस रेटिंग के साथ महिला ग्रेंड मास्टर (Women Grand Master) का स्थान सुरक्षित किया। ग्रेंड मास्टर बनने पर ऑल इंडिया चैस ​फेडरेशन ने ट्वीट कर दिव्या को बधाई दी।

ऑल इंडिया चैस ​फेडरेशन ने ट्वीट के कैप्शन में लिखा “बधाई हो @ दिव्या देशमुख05, भारत की नवीनतम महिला ग्रैंडमास्टर।,नागपुर की किशोरी दिव्या देशमुख पहले शनिवार ग्रैंडमास्टर अक्टूबर 2021, बुडापेस्ट हंगरी में अपना दूसरा अंतर्राष्ट्रीय मास्टर नॉर्म (फाइनल डब्ल्यूजीएम नॉर्म) हासिल करने के बाद देश की नवीनतम महिला ग्रैंडमास्टर बन गई हैं।”

इसके अलावा दिव्या ने भी अपने ट्वीटर अकाउंट पर शेयर किया “लगभग 2 वर्षों के बाद ओटीबी शतरंज खेला फिर भी ऐसा नहीं लगा कि कुछ भी बदला है। तीव्र वातावरण, जीवंतता, समय के दौरान चिंता, घबराहट, महान खेल, और बस सब कुछ। इस सब से चूक गए और मैं फिर से खेलकर बहुत खुश हूं।”

Leave A Reply

Your email address will not be published.