शाहदरा मेट्रो स्टेशन और करोलबाग मैट्रो के बाहर जाम को खत्म करने की कवायद शुरू

0

नई दिल्ली, 16 मई। दिल्ली के किसी भी मेट्रो स्टेशन के बाहर का हाल देखा जाऐ तो आप देखेंगे कि लगभग हर मैट्रो स्टेशन के बाहर जाम की परेशानी दिखाई देती है। मैट्रो स्टेशन के बाहर ऑटो, ई रिक्शा और अन्य सार्वजनिक गाड़ियों से हर समय जाम लगा दिखाई देता है लेकिन अब मेट्रो द्वारा Shahdara Metro Station और करोलबाग मैट्रो स्टेशन के बाहर लगने वाले जाम से जनता को छुटकारा दिलाने के लिए तैयारी शुरू हो चुकी है।

2 मैट्रों स्टोशनों से शुरूआत

Sponsored Ad

दिल्ली मैट्रो ने इसके लिए फिलहाल 2 मैट्रों स्टोशनों से शुरूआत करने का फैसला लिया है जिसमें बहुत ज्यादा बिज़ी रहने वाले स्टेशन शाहदरा (Shahdara Metro Station) और करोलबाग (Karol Bagh Metro Station) शामिल हैं। इन दोनों स्टेशनों से 40 प्रतिशत यात्री अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए ई-रिक्शा का यूज़ करते हैं। अब मैट्रों ने मल्टी मॉडल ट्रांजिट योजना के तहत एक योजना तैयार की है।

​फिलहाल इन दोनों स्टेशनों पर सार्वजनिक गाड़ियों के लिए अलग पार्किंग स्टैंड के साथ अलग लेन बनाने का निर्णय लिया है। इन दो मैट्रो स्टेशन के अलावा अन्य 12 स्टेशनों पर भी काम शुरू है।

Karol Bagh Station पर 46000 यात्रियों की आवाजाही

करोलबाग बाज़ार दिल्ली का एक बड़ा बज़ार है और यहां रोजाना बहुत बड़ी संख्या में ग्राहक खरीदारी के लिए आते हैं। आपको बता दें सिर्फ करोलबाग स्टेशन पर लगभग 46 हजार लोग रोजाना आवाजाही करते हैं। इस स्टेशन पर लगभग 39 प्रतिशत यात्री ई-रिक्शा का का यूज़ करते हैं और 12 प्रतिशत यात्री ऑटो, 33 प्रतिशत पैदल एवं 1 प्रतिशत यात्री कैब का इस्तेमाल करते हैं।

Sponsored Ad

Sponsored Ad

Shahdara Metro Station पर 41% ई-रिक्शा का इस्तेमाल

ऐसा ही कुछ हाल शाहदरा मैट्रो स्टेशन (Shahdara Metro Station) का भी है। शाहदरा स्टेशन पर उतरने वाले यात्रियों मे से 41 प्रतिशत यात्री ई-रिक्शा, 9 प्रतिशत यात्री कैब, 7 प्रतिशत ऑटो, 7 प्रतिशत यात्री, बस का और 33 प्रतिशत यात्री पैदल जाना पसंद करते हैं।

इन दोनों स्टेशन पर मांग ज्यादा होने के कारण यहा ई-रिक्शा और ऑटो की संख्या बहुत रहती है जिसके कारण अन्य लोगों को जाम से परेशानी का सामना करना पड़ता है। अब इसी समस्या से बचने के लिए इन वाहनों के लिए अलग लेन, पार्किंग स्टैंड, पिक एवं ड्रॉप प्वाइंट के चिन्ह बनाए जाने की योजना है।

अगले 12 महीनों में पूरा होगा काम

इस कार्य के लिए अलग से खंड बनाए जाऐंगे ताकि सभी वाहन व्यवस्थित हो सकें और लोगों को जाम का सामना न करना पड़े। मैट्रो के अनुसार इस कार्य को अगले 12 महीनों में पूरा कर दिया जाएगा।

शाहदरा और करोलबाग स्टेशन पर क्या होगा काम:

  • कैब, टैक्सी के लिए पिकअप एंड ड्रॉप प्वाइंट।
  • ई-रिक्शा पार्किंग की जगह के साथ सवारी बिठाने के लिए अलग लेन।
  • बस के लिए अलग लेन होगी, जो बीच सड़क पर यात्री नहीं बैठाऐंगे।
  • ऑटो के लिए अलग स्टैंड के साथ अलग लेन।
  • साइकिल स्टैंड भी तैयार किया जाएगा।
Leave A Reply

Your email address will not be published.

x