कोरोना काल में अंतिम संस्कार बना कारोबार, कम्पनियां दे रही हैं सिल्वर और गोल्ड पैकेज

देश में कोरोना से हाल-बेहाल है, रोज लाखों की संख्या में कोरोना संक्रमितों के नए मामले आ रहे हैं. सैंकड़ों की संख्या में लोग दम तोड़ रहे हैं. कहीं ऑक्सीजन की कमी है तो कहीं अस्पतालों में बेड की. इस बीच विपक्ष भी लगातार केंद्र सरकार पर हमलावर है. राहुल, सोनिया, अखिलेश सहित सभी विपक्षी पार्टियां केंद्र सरकार पर आरोप लगा रही हैं.

इस बीच एक नया कारोबार चरम पर है जो कोरोना से मरने वाले लोगों के अंतिम संस्कार का है. जी हां एक तरफ लोग ऑक्सीजन और स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी के चलते दम तोड़ रहे हैं वहीं मरने के बाद भी उनके अंतिम संस्कार के लिए भी अच्छी खासी कीमत वसूली जा रही है.

ऐसी खबरें आ रहीं हैं कि कोरोना से अब इतने लोग दम तोड़ रहे हैं कि श्मशान में उनके दाह संस्कार के लिए भी जगह नहीं मिल पा रही है. कहीं काफी देर तक इंतजार करना पड़ रहा है तो कहीं पर अंतिम संस्कार के लिए लकड़ियों की किल्लत है. वहीं कई परिवार कोरोना से मरने वालों के शव तक नहीं ले पा रहे हैं तो कुछ परिवार अपनों से दूर किसी और शहर या फिर विदेश में हैं

इसी बीच कारोबार शुरु हुआ है कोरोना से मृत लोगों के अंतिम संस्कार करवाने का जिसमें कंपनियों के पास 30 से 40 हजार तक के पैकेज हैं जिसमें उसी के हिसाब से अंतिस संस्कार की सुविधा होती है.

रणदीप सुरजेवाला का ट्वीट

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने भी ऐसी ही एक खबर ट्वीट कर केंद्र और खट्टर सरकार पर निशाना साधा है. सुरजेवाला ने एक न्यूज़ पेपर की कटिंग शेयर करते हुए मोदी-खट्टर सरकारों के रोज़गार कार्यक्रम को अंतिम संस्कार कम्पनियां बताया.

सुरजेवाला ने जिस न्यूज़ पेपर की कटिंग को शेयर किया है उसमें हैदराबाद की एक खबर छपी है जिसमें अंतिम संस्कारों के लिए 30 से 40 हजार तक के पैकेज उपलब्ध कराने की बात कही गयी है और एक कंपनी देश के 7 शहरों में अंतिम संस्कार करवाने की सुविधा देती है. छपी खबर के मुताबिक एक कंपनी गोल्ड और बेसिक नाम से दो पैकेज चलाती है और उसको प्रतिदन 6 से 10 ऑर्डर भी मिल रहे हैं. चूंकि लोगों को अंतिम संस्कार के लिए लोगों को श्मशान में जगह नहीं मिल पा रही है उसकी भी व्यवस्था करवायी जा रही है.

आप सांसद संजय सिंह का ट्वीट

वहीं आप सांसद संजय सिंह ने भी सरकार पर निशाना साधा है. संजय सिंह ने उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के एक ट्वीट को रिट्वीट कर लिखा है कि “पूरे यू पी में त्राहि-त्राहि मचा है। शमशानों में शवों की कतारें हैं। ऑक्सिजन, बेड, की कमी से लोग मर रहे हैं। अभी भी चमचे कह रहे हैं “महाराज सब चंगा है”

आपको बता दें देश में कोरोना से आम जन जीवन तबाह हो चुका है. लोगों का हाल बुरा है. राज्य सरकारें संक्रमण चेन को तोड़ने में जुटी हैं लेकिन इसका कुछ खासा असर देखने को नहीं मिल रहा है. दिल्ली में लॉकडाउन को 6 दिन के लिए और बढ़ा दिया गया है तो वहीं यूपी में सप्ताह में दो दिन शनिवार और रविवार लॉकडाउन लगाया गया है. बोर्ड परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं. स्कूल – कॉलेजों को भी बंद कर दिया गया है लेकिन फिर भी प्रतिदिन कोरोना संक्रमितों के आंकड़ों में बढ़ावा ही देखने को मिल रहा है.

कोरोना संक्रमितों के आंकड़ों में रिकार्ड इजाफा

आज स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में 24 घंटे में कोरोना के 3 लाख 49 हजार 691 मामले आए हैं वहीं 24 घंटे में 2 हजार 767 लोगों की कोरोना से मौत हुई है जिसके बाद संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 69 लाख 60 हजार 172 पहुंच गया है, जिसमें एक्टिव मामलों की संख्या 26 लाख 82 हजार 751 है और मौतों का आंकड़ा 1 लाख 92 हजार 311 हो गया है। वहीं 2 लाख 17 हजार 113 लोग कोरोना से ठीक भी हुए हैं जिसके बाद ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 1 करोड़ 40 लाख 85 हजार 110 हो गई है।

deaths by covid-19funeral became businessfuneral business indiafuneral packages
Comments (0)
Add Comment